फ्रांस: राष्ट्रपति मैक्रों के कारण हड़ताल पर बैठे 80% लोको पायलट, जनजीवन ठप्प

0
160

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैन्युअल मैक्रों द्वारा प्रस्तावित सुधारों के कारण बुधवार को शुरु हुई रेलवे हड़ताल गुरुवार को भी जारी रही। खबरों की मानें तो लगभग 80 फीसदी लोको पायलट इस दौरान हड़ताल पर बैठे हैं, जिसके कारण यात्रियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दरसअल, राष्ट्रपति मैक्रों ने रेलवे सुधार के लिए कुछ प्रस्ताव जारी किए थे, जिस पर ये लोग विरोध प्रकट कर रहे हैं।

Image result for europe railway staff on strike in france

मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक, रूसी प्रशासन के स्वामित्व वाली रेलवे एसएनसीएफ का बयान है कि बुधवार को शुरु हुई रेल हडताल के कारण यातायात बुधवार और शुक्रवार को भी बाधित रहा। वहीं, उच्च गति वाली टीजीवी ट्रेन्स की संख्या जहां पहले आठ में एक थी वह उसे बढ़ाकर सात में एक दिया गया है। इसके अलावा अन्य समय सारणियों में कोई बदलाव नहीं है।

Image result for europe railway staff on strike in france

जानकारी के लिए बता दें कि स्पेन, स्विटजरलैंड और इटली की तरफ जाने वाली रेलों को रद्ध कर दिया गया है। अभी भी फ्रांस में सार्वजनिक सेवा क्षेत्र के करीब 3.5 लाख कर्मचारी ने मोर्चा खोला हुआ है। जिसके कारण तेज गति ट्रेन 85%, 75% रीजनल ट्रेन और 30% हवाई सेवाओं को भी रद्द कर दिया गया है। अब फ्रांस में 8 हाई स्पीड ट्रेन्स में से सिर्फ एक हाई-स्पीड ट्रेन चलाई जा रही है। फ्रांस में नियमित 45 लाख लोग यात्रा के लिए ट्रेन का इस्तेमाल करते हैं।

Image result for europe railway staff on strike in france

“रेल हड़ताल के कारण काफी लोगों ने अपने निजी वाहनों को प्रयोग में लाना शुरू कर दिया है। भारी संख्या में निजी वाहनों के कारण सड़कों पर भारी जाम चल रहा है, पेरिस क्षेत्र में सुबह 400 किलोमीटर लंबा जाम दर्ज किया गया।”-फ्रांस राजमार्ग एजेंसी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here