राहु के दोष को कम करने के लिए करें शनिदेव का व्रत, जानें उपाय

0
62

ज्योतिष के मुताबिक हर व्यक्ति के जीवन पर ग्रह प्रभाव पड़ता हैं। कुछ ग्रह का प्रभाव अच्छा होता हैं। तो वही कुछ का बुरा होता हैं। वही कुछ ग्रहों से कुंडली में दोष पैदा हो जाता हैं। शनि और राहु-केतु के कारण मनुष्य को कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। वही जिससे घर में कई तरह की परेशानियां और दिक्कतें आती रहती हैं।

वही ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इन दोनों ग्रहों का अपना कोई भी अस्तित्व नहीं होता हैं। इन दोनों को छाया ग्रह माना जाता हैं। बता दें की शास्त्रों के अनुसार राहु को पाप का राजा माना जाता हैं। इसके कुंडली में आने के लक्षणों को पहचानकर इससे बचने के उपायों को कर के इस परेशानियों से बचा जा सकता हैं। वही कुंडली में इस ग्रह को शान्त करने के लिए 108 बार बीजमंत्र का जाप करना चाहिए और साथ ही साथ घर में राहु यंत्र रखें।

वही राहु-केतु के प्रभाव को कम करने के लिए नीले कपड़े में तिल बांधकर हनुमान जी को चढ़ाना चाहिए। बूंदी के लड्डू पर चार लौंग लगाकर हनुमान जी को भोग लगाएं। वही अपने घर के मुख्य कमरे में चांदी से बना हुई हाथी को रखें ऐसा करने से आप के ऊपर से राहु-केतु पर प्रभाव कम होने लगता हैं, और राहु दोष शांत करने के लिए तिल, नारियल, कच्च दूध, हरी घास, जौ, तांबा आदि नदी में प्रवाहित किया जा सकता हैं। वही साथ ही साथ राहु दोष को कम करने के लिए प्रत्येक शनिवार को शनिदेव का व्रत रखने से राहु शांत होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here