असम में बाढ़ से बिगड़े हालात! 11 जिलों में 2 लाख 72 हजार लोग प्रभावित, बचाव कार्य जारी

0

मानसून 1 जून से केरल में दस्तक देने वाला है। लेकिन देश का एक राज्य मानसून से पहले ही बाढ़ से परेशान हो चुका है। असम में बाढ़ और बारिश के चलते ब्रह्मपुत्र और इसकी सहायक नदियां उफान पर है। हालात ऐसे उपज गए है्ं कि लाखों लोगों को बाढ़ से बचने के लिए अपना घर तक छोड़ना पड़ रहा है। बाढ़ और तेज बारिश के कारण कई लोगों की जान तक जा चुकी है।

असम के सोनितपुर जिले की जिया भराली नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। बाढ़ के हालात पनपने से पानी निचले इलाकों में भर गया है। असम के कार्बी आंलोंग जिले में ब्रह्मपुत्र नदी का पानी लोगों के घरों में जा घुसा है। लोग अपनी जान बचाककर नावों की मदद से गांव से बाहर निकल रहे हैं।

असम के 33 जिलों में से 11 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। इनमें लखीमपुर, बारपेटा, होजई, धेमाजी, नगांव, दरंग, नलबाड़ी, पश्चिम कार्बी आंगलोंग, डिब्रूगढ़, गोलपारा और तिनसुकिया जिले बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हो गए हैं।

असम में बाढ़ का पानी लोगों के साथ किसानों की फसलों पर भी कहर बनकर टूट पड़ा है। इससे चलते करीब 2678 हेक्टेयर में फसलों को जबरदस्त नुकसान हुआ है। राज्य सरकार की तरफ से बाढ़ जैसी आपदा से निपटने के लिए पांच जिलों में 57 राहत शिविर और वितरण केंद्र चलाए हैं। यहां पर राज्य के 16 हजार से ज्यादा लोग शरण लिए हुए हैं। गोलपारा में बाढ़ की सबसे भयावह तस्वीर सामने आई है जहां पर चार लोगों की पानी में डूबने से मौत हो गई है। सेना, एनडीआरएफ की टीमें बचाव कार्य में लगी है।

Read More….
देश के कई हिस्सों में आज होगी बारिश! 1 जून तक हो सकती है मानसून की दस्तक…
लॉकडाउन: आम आदमी को लग सकता है झटका, 5 रुपये तक मंहगा हो सकता है पेट्रोल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here