61 अरब रुपये में स्नैपडील का अधिग्रहण करेगी फ्लिपकार्ट

0

 

भारत की सबसे बड़ी ई कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट की ख्वाहिश पूरी हो ही गई। जी हां, फ्लिपकार्ट अपनी प्रतिद्वंदी स्नैपडील को खरीदेगी। एक रिपोर्ट के मुताबिक, अब स्नैपडील के बोर्ड ने इस अधिग्रहण के लिए हरी झंडी दे दी है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि यह डील 900 से 950 मिलियन डॉलर यानि लगभग 61 अरब रुपये में की तय की गई है। बताया जा रहा है कि इस डील के फाइनल अपू्रवल के लिए स्नैपडील के शेयर धारकों की मंजूरी बाकी है। हालांकि इस बात की पुष्टि दोनो ही कंपनियों की और से नही की गई है।

तीन चरणों में किया जाएगा विलय

रिपोर्ट्स के मुताबिक फ्लिपकार्ट और स्नैपडील का विलय तीन चरणों में किया जाएगा। जिसमें पहले सॉफ्टबैंक स्नैपडील और इसके इन्वेस्टर्स से स्टेक खरीदेगा जो इस कंपनी का सबसे बड़ा निवेशक है। निवेशकों में कलारी कैपिटल शामिल है, इसके बाद सॉफ्टबैंक इसे फ्लिपकार्ट को देगा और आखिर चरण में फ्लिपकार्ट अपने बिजनेस में स्नैपडील को मिला लेगा।

कंपनी पहले ही ठुकरा चुकी है आॅफर

रिपोर्ट में बताया गया कि फ्लिपकार्ट और स्नैपडील के बीच यह डील 61 अरब रूपए में तय की गई है। इससे पहले स्नैपडील ने फ्लिपकार्ट द्वारा दिया जाने वाला 700-800 मिलियन डॉलर का ऑफर ठुकराया था। हालांकि स्नैपडील के फाउंडर और आला अधिकारियों के न चाहने और बोर्ड के कुछ सदस्यों की नामंजूरी की वजह से यह डील नहीं हो पा रही थी, लेकिन जब बोर्ड ने इसके लिए हरी झंडी दे दी है तो जल्द ही इस पर आखिरी फैसला आ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here