बहुचर्चित मक्का मस्जिद बम बलास्ट केस में असीमानंद सहित पांच आरोपियों को कोर्ट ने किया बरी

0
394

जयपुर। 18 मई 2007 को हैदराबाद के मक्का मस्जिद में हुए बम बलास्ट मामले में एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने आज सभी आरोपियों को बरी कर दिया है।

करीब 11 साल पहले हुए इस धमाके में 9 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 58 घायल हो गए थे।

इस मामले में मुख्य आरोपी आरएसएस से जुड़े असीमानंद थे, जिनके सहित पांच लोगों को आज अदालत ने सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है।

एनआई की कोर्ट ने इस मामले में पिछले हफ्ते ही सुनवाई पूरी कर ली थी और अपने फैसले को सुरक्षित कर लिया था। आज कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है।

कब क्या हुआ?

18 मई 2007 को हैदराबाद के प्रसिद्ध मस्जिद मक्का मस्जिद में बम बलास्ट हुआ था। इसमें करीब 9 लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले के बाद पुलिस ने भी भीड़ पर गोलियां चला दी थीं, जिसमें और भी लोग मारे गए थे।

इस मामले में आरएसएस एक्टिविस्ट सुनील जोशी को सीबीआई ने मुख्य आरोपी बनाया था। लेकिन जोशी की 29 दिसम्बर 2007 को कुछ अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

19 नवम्बर 2010 को स्वामी असीमानंद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। असीमानंद सहित पांच लोगों पर इस मामले में केस दर्ज किया गया था। बाद में कोर्ट में असीमानंद ने हमले में शामिल होने की बात कबूल कर ली थी।

अप्रैल 2011 को ये मामला सीबीआई से एनआई को हस्तानांत्रित कर दिया गया था। 31 मार्च 2017 को असीमानंद को ज़मानत मिल गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here