Fitch Solutions : भारत की 2020 में ईंधन मांग में 11.55% की कमी

0

फिच सॉल्यूशंस के द्वारा बताए गए नए आंकड़ों में देश के आर्थिक दृष्टिकोण में गिरावट के साथ 2020 में भारत में ईंधन की मांग में कमी दिख रहीं है । खबरों के अनुसार 11.5 प्रतिशत तक की कमी देखी जा रहीं है। इसके अर्थशास्त्री वित्त वर्ष 2020-21 में भारत के वास्तविक जीडीपी में  8.6 प्रतिशत के अंतर के संकेत देख रहें हैं ।

India's fuel demand to contract 11.55% in 2020: Fitch Solutions, Auto News,  ET Autoफिच सॉल्यूशंस के द्वारा एक नोट में कहा गया है की , “डिमांड की कमजोरी बोर्ड में फैली हो गई है, जिसमें की उपभोक्ता और औद्योगिक ईंधन दोनों में गिरावट को दर्ज किया गया है। “देश के आर्थिक दृष्टिकोण में और तेजी से गिरावट के साथ – साथ भारत में ईंधन की मांग में 2020 में आए -9.4 प्रतिशत से -11.5 प्रतिशत तक के अनुमानों की गणना की जा रहीं हैं।

Covid-19 pain: India's fuel demand to contract 11.5% in 2020, says Fitch  Solutions - glbnews.com2021 और 2022 में साल-दर-साल 5 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान लगाया जा रहा है की आर्थिक गतिविधि भी सामान्य होती है। 2020-21 की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद में 23.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। उच्च बेरोजगारी और कोरोना वायरस से उपजी आय के नुकसान ने उपभोक्ता खर्च को बुरी तरह से प्रभावित किया है, जो बदले में व्यावसायिक निवेश को गिरावट से कम करने वाला है ।

Petrol prices stable, diesel becomes cheaper, know your city rate - Energy  News India- Power News India, Energy, Oil and Gas Newsसरकार ने कई प्रोत्साहन उपायों की शुरुआत की है, जो संभावित रूप से लगातार राजस्व की कमी के कारण खर्च को बढ़ावा देने के लिए कार्य को जारी रखें हुए हैं। फिच ने कहा, “हालांकि, वर्तमान में सूखे से होने वाले आर्थिक नुकसान के पैमाने देखे गए  और यह देखते हुए भी राजकोषीय प्रतिक्रिया पर्याप्त साबित हुई है। मार्च से मई तक जगह-जगह देशव्यापी तालाबंदी के साथ में घरेलू मांग काफी तेजी से घट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here