कोर्ट का समय बर्बाद करने पर पांच हजार का जुर्माना

0
110

जयपुर। सीबीआई की एक विशेष अदालत ने एक गवाह पर फर्जी अर्जी देकर कोर्ट का समय बर्बाद करने पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। गवाह आल इंडिया रेडियो में काम करता है। जिसका नाम रविन्द्र परमार बताया जा रहा है और वो 10 साल पुराने एक सुचना मंत्रालय के मामले में गवाह था। अपने बयान समाप्त होने के बाद, परमार ने एक आवेदन किया कि इस मामले में कुछ गवाह ही आरोपी है। अदालत ने अभियोजन पक्ष की सहमति के बिना आवेदन दाखिल करने पर जोर देने के लिए चेतावनी दी थी

कोर्ट ने कहा की उन्हें नहीं लगता है की इस मामले की जांच करे रहे अधिकारी ने किसी भो आरोपी को बचने की कोशिश की है। कोर्ट न कहा की परमार का आल इंडिया रेडियो के अहमदाबाद के डायरेक्टर पर आरोप लगाना गलत है।

जुर्माना लगाते हुए जज जे के पंडया ने कहा की परमार ने अदालत पर जोर डाला की चीजे उनके हिसाब से हो और जब ऐसा नहीं हुआ तो उन्होंने दुसरे अधिकारीयों पर आरोप लगाना शुरू कर दिया है। कोर्ट ने कहा की वो इस तरह का बर्ताव कोर्ट में बर्दाश नहीं कर सकता है और वो किसी भी प्रकार से परमार द्वारा किए गये इस बर्ताव पर उस पर रहम नहीं कर सकता है। उसके बाद कोर्ट ने उसे चेतावनी देते हुए उस पर पांच हजार रुपए का जुर्माना भरने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here