सरकारी बैंकों के विलय को लेकर वित्तमंत्री सीतारमण का आया ये बड़ा बयान

0

सरकारी बैंकों के मर्जर को लेकर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ा बयान दिया है। इस साल पंजाब नेशनल बैंक विलय के बाद दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन जाएगा। वित्त मंत्र निर्मला सीतारमण ने कहा है कि सरकारी बैंकों के प्रस्तावित विलय का  प्रोसेस तय समय के अनुसार होने जा रहा है। केंद्र सरकार ने बैंकों के विलय को लेकर बड़ा फैसला लिया है। 10 सरकारी बैंकों को मिलाकर 4 बड़े बैंक बनाने को लेकर सरकार ने फैसला किया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि बैंक विलय कोलेकर कोई अनिश्चिता नहीं हैं। बैंक मर्जर को लेकर प्रस्तावित प्रक्रिया समय के मुताबिक आगे बढ़ती जा रही है। बैंकों के मर्जर को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का यह बयान सरकारी बैंक प्रमुखों के साथ हुई समीक्षा बैठक के बाद सामने आया है। बैठक के बाद सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और 10 बैंकों के मर्जर को लेकर स्थिति के बारे में जानकारी साझा की है।

आपको बता दें कि मोदी सरकार ने अगस्त 2019 को देश के 10 सरकारी बैंकों का 4 बैंकों में विलय करने को लेकर बड़ा फैसला लिया था। प्रस्तावित विलयीकरण में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटे़ड बैंक ऑफ इंडिया का विलय पंजाब नेशनल बैंक में होने का प्रस्ताव है। यदि पंजाब नेशनल बैंक में इन बैंकों का विलय होता है, तो देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक पीएनबी हो जाएगा। हालांकि, सरकारी बैंकों के विलय के बाद ग्रहाकों पर क्या असर होगा। इससे ग्राहकों को नई खाता संख्या, नई आईडी, आईएफसी कोड मिल सकता है। इसके साथ ही बैंक में नई डिटेल भी भरवानी होगी। बैंकों के विलय के बाद कुछ शाखाएं बंद हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here