लॉकडाउन के बाद बदल जाएगा मेकर्स का टॉपिक चुनने का नजरिया

0

देश भर में लॉकडाउन दो महीने से चल रहा है जिससे आम जन जीवन काफी ज्यादा प्रभावित हो रहा है। देश के हालात कब सामान्य होंगे इस पर अभी कुछ भी कहना मुश्किल है। इससे मनोेरंजन की दुनिया पर भी काफी ज्यादा असर पड़ा है। पिछले काफी समय से मनोरंजन की दुनिय में ताला लगा हुआ है। वहीं कलाकार, मेकर्स, प्रोड्यूसर और थिएटर मालिक कबसे लॉकडाउन खुलने की राह तक रहे है। हालांकि इस वक्त देश के जैसे हालात है उसे देखकर ये नहीं लगता है कि इतनी जल्दी चीजें सामान्य हो जाएंगी। वहीं कुछ ट्रेंड पंडितों का कहाना है कि लॉकडाउन खुलने के बाद मेकर्स और डायरेक्टर का फिल्मों के लिए टॉपिक चुनने का जनरिया बदल जाएगा।

coronavirus Effect: लॉकडाउन के बाद थिएटर बिजनेस में आ सकता है बदलाव

अब पहले की तरह लोग फिल्मों के लिए विषय को नहीं चुनेंगे। क्योंकि पहले की फिल्मों में किसिंग सीन्स और इंटीमेट सीन्स होते थे लेकिन अब लॉकडाउन के बाद सोशल डिस्टेसिंग को ध्यान में रखकर डायरेक्टर और मेकर्स टॉपिक का चुनाव करेंगे। जिससे फिल्मों में ऐसे सीन्स की कम ही जरूर पड़े। इसके अलावा इस वक्त देश के जैसे हालात है तो उसको देखते हुए ये हो सकता है कि डायरेक्टर और मेकर्स वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए फिल्म निर्माण करें।

अभी हाल ही में कई ऐसी शॉर्ट फिल्में रिलीज हुई है जो पूरी तरह से कोरोना वायरस महामारी और इस दौरान घटित कई घटनाओं पर आधारित फिल्मों का निमार्ण किया गया है। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए लोगों ने कैसे रोमांस को बरकरार रखा ऐसे विषयों पर आधारित फिल्मों का निर्माण हो सकता है।

World No Tobacco Day: चाहकर भी खुद को सिगरेट पीने से नहीं रोक पाए बॉलीवुड के ये स्टार्स

इसके अलावा आज के समय में जो लोग आउटिंग के लिए अक्सर बाहर जाया करते थे उन्होंने दो महीने बिना घर से बाहर निकले कैसे ​बिताए ऐसे कई टॉपिक हो सकते है जिन पर आने वाले समय में फिल्मों का निर्माण हो सकता है। ये भी हो सकता है कि अब बड़े बजट और ​पीरियोडिक फिल्में ना बने। जिनका ऐलान पहले ही हो चुका है सिर्फ उन्ही का निमार्ण हो।

अमिताभ बच्चन ने शेयर किया पोस्ट बताया 44 साल में ऐसी हो गई हालत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here