अब्दुल कलाम के जीवन से जुडी 10 कमाल की बातें

0

जयपुर। 15 अक्टूबर 1931  को जन्मे अब्दुल कलाम की आज पूरा देश जन्म जयंती बना रहा है और इस मुकर पर हम आपको उनके जीवन की कुछ अनोखी बाते बताने वाले है और जो शायद आपको भी न पता हो.

अब्दुल कलाम एक बहुत ही साधारण परिवार से आते है और उन्होंने बचपन में अपने परिवार की सहायता करने के लिए अख़बार बेचे है.

इन्हें भारत का मिसाइल मैन कहा जाता है और आपको बता दे की इन्होने भारत के पहले नुक्लियर टेस्ट में एक अहम योगदान दिया था.

अब्दुल कलाम ने राजनीति में भी कदम रखा और वो देश के 11वे राष्ट्रपति भी बने और उन्होंने राजनेता की छवि बदल दी, और आज भी वो अकेल ऐसे राजनेता है जिन्हें हर कोई पसंद करता है.

अब्दुल कलाम सिर्फ भारतीयों को ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोगों के लिए प्रेरणा है.

73 और 76 साल की उम्र में भी अब्दुल कलाम को एमटीवी ने यूथ आइकॉन चुना था.

अब्दुल कलाम को पद्म भूषण, पद्मा विभूषण और भारत रत्न से नवाजा गया है.

अब्दुल कलाम जब राष्ट्रपति बने थे तो उन्होंने राष्ट्रपति भवन के सभी आलिशान कमरे बंद करा दिए थे क्यों की वो उन्हें इस्तेमाल नहीं करना चाहते थे. वो राष्ट्रपति भवन में एक साधारण से कमरे में रहा करते थे.

डॉ कलाम कई लोगों, विशेष रूप से बच्चों के लिए एक महान प्रेरणा थी, और हमेशा उन्हें बड़े सपने देखने और जीवन में महान लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते थे.

एक दिन, उनके सहकर्मियों में से एक ने डॉ कलाम से काम से जल्दी जाने की अनुमति ली थी क्योंकि उन्हें अपने बच्चों को कार्निवल ले जाना था. लेकिन किसी कारण से वह समय पर अपना काम खतम्म नहीं कर सके . जब वह रात में घर पहुंचे, तो उनकी पत्नी ने उनसे कहा कि डॉ कलाम उनके घर आए थे और बच्चों को कार्निवल में ले गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here