जानिए क्या हैं दिल्ली के निवासियों का पसंदीदा पिकनिक स्पॉट

यह पसू उद्यान भारत की राजधानी यानी दिल्ली में बसा हुआ हैं और यह जगह पर्यावरण से प्यार करने वाले के लिए एकदम सही जगह हैं।

0
122

यह पसू उद्यान भारत की राजधानी यानी दिल्ली में बसा हुआ हैं और यह जगह पर्यावरण से प्यार करने वाले के लिए एकदम सही जगह हैं। जो पर्यटक यहां पर घूमने आते हैं वो यहां पर कई घंटों तक यहां पर बैठे रहते हैं और अपने कैमरे में जानवरों की तस्वीरें खीचते रहते हैं। आपको यह जानकर बहुत खूशी होगी कि दिल्ली का चिडिया घर और पक्षियों का घर एशिया के कई बडें चिडिया घरों और पक्षियों के घरों में से एक हैं। वन्यजीवों को देखने के साथ-साथ पर्यटक नेचर वॉक और 16 वीं शताब्दी के किले पर घूम सकते हैं।

ये जगह दिल्ली के लोगो की पसंदीदा जगहों मे से एक हैं। दिम्मी के लिवासी यहां पर घूमने आते हैं और अपने आप को रिफ्रेश फील कराते हैं। आपको इस चिडिया घर में जानवरों की कई प्रजातियां देखने को मिलेगी। यहां आप लगभग 130 प्रजातियों के डेढ़ हजार जानवरों को देख सकते हैं। यह संख्या लगातार घटती जा रही है क्योंकि पूरे देश में जानवरों का आदान-प्रदान किया जा रहा है।

सिर्फ दिल्ली के निवासी ही नहीं बल्की जो पर्यटक भी यहां पर घूमने आते हैं। इसका कारण यह है कि जू न केवल देश का बल्कि एशिया के सबसे आकर्षक चिड़ियाघरों में से एक है। इसे राष्ट्रीय चिड़ियाघर पार्क भी कहा जाता है। यह चिड़ियाघर 176 एकड़ में फैला है और नई दिल्ली में पुराने किले के पास स्थित है। 1 नवंबर 1956 को इसका उद्घाटन किया गया था।

इस चिड़ियाघर में आपको विभिन्न प्रकार के जानवर दिखेंगे जो पर्यटकों को आकर्षितकरते हैं। इनमें बड़ी संख्या में तेंदुए, जिराफ, गिर शेर, चिंपैंजी, लकड़बग्घा, दरियाई घोड़े, अफ्रीकी जंगली भैंस और ज़ेबरा शामिल हैं। इसके अलावा, दिल्ली के चिड़ियाघर में एक भूमिगत रेप्टाईल घर भी है, जिसमें मगरमच्छ, सुराग, भारतीय कोबरा, भारतीय तारा कछुए और भारतीय रेत बोआ जैसे रेप्टाईल्स की प्रजातियां रखी गई हैं। चिड़ियाघर में पक्षियों की कई प्रजातियां हैं, जैसे कि अमु, सॉर्स क्रेन, पीपहोल, ग्रे हॉर्नबिल और बार्न उल्लू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here