बाप बेटी मिलकर कर रहे हैं दुनिया की हिफाज़त

0
56

जयपुर। विश्व स्वास्थ्य संगठन ये हमारे पूरे संसार के स्वास्थ्य का ख्य़ाल रखते है। अगर कोई भी नई या पुरानी बीमारीयां होती है तो इससे बचने के ये उपाय सूझाती है और महामारी फैलने पर ये सबको मदद भी देती है इसका काम ही है पूरे विश्व के स्वस्थ्य की रक्षा करना और यह बखूबी अपना कार्य करती है लोगों को बीमारीयों के प्रति जागरूक करती है उनसे बचने के उपाय बताती है। उसकी पूरी रिसर्च करके लोगो को आगाह करती है। इसके कुछ उदाहरण है जैसे की मलेरिया की बीमारी, निपा वायरस, इबोला वाइरस, कई ऐसी बीमारीयां है

जिनके बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन लोगों की मदद मुहिया करवाती है विश्व स्वास्थ्य संगठन की डिप्टी डायरेक्टर जनरल नियुक्त पहली भारतीय महिला हैं जिनका नाम डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन है। आपको बता दे की सौम्या स्वामीनाथन जानी-मानी बाल रोग विशेषज्ञ हैं। डॉक्टर सौम्या को क्लिनिकल केयर और रिसर्च में तीस साल का अनुभव है। रिसर्च की मदद से उन्होंने कई मेडिकल के प्रभावी प्रोग्राम बनाए हैं। डॉ. सौम्या ने जेनेवा में ट्रोपिकल बीमारियों के क्षेत्र में काम किया था,

ट्रोपिकल बीमारियां मच्छर जनित इलाकों में होती हैं। डॉक्टर सौम्या के इस काम पर डॉक्टर गेब्रेयेसस कहते हैं कि दुनिया को सुरक्षित रखने के लिए शीर्ष प्रतिभा, लिंग समानता और भौगोलिक विविधता की अहम जरूरत होती है। इस मकसद को पूरा करने के लिए ये एक मज़बूत टीम आवश्यकता है तो डॉक्टर सौम्या ने गठित की है। आपको जैनकर हैरानी होगी की भारत में हरित क्रांति के जनक माने  जाने वाले एमएस स्वामीनाथन ये बेटी है सौम्या स्वामीनाथन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here