किसानों को मिलेगा नैनो प्रौद्योगिकी का फायदा : डॉ. हर्षवर्धन

0

केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि नैनो प्रौद्योगिकी क्षेत्र में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर है और इसका इस्तेमाल कृषि के क्षेत्र में होने से देश के किसानों को इस प्रौद्योगिकी का फायदा मिलेगा। डॉ. हर्षवर्धन और केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने संयुक्त रूप से मंगलवार को नैनो आधारित कृषि इनपुट एवं खाद्य उत्पादों के मूल्यांकन के लिए गाइडलाइंस जारी किया। गाइडलाइंस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के बायोटेक्नालोजी विभाग,भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने मिलकर तैयार की है।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि किसानों को नैनो प्रौद्योगिकी का भरपूर लाभ दिलाने मंे ये गाइडलाइंस सहायक होगी। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि किस तरह छोटे से छोटे किसानों तक इस प्रौद्योगिकी का लाभ पहुंचे।

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री तोमर ने बताया कि नैनो प्रौद्योगिकी का उपयोग करके इफको ने नैनो फर्टिलाइजर बनाया है, जिसका ट्रायल होने पर अच्छे नतीजे आए हैं।

केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि में इस प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल होने से पैदावार बढ़ेगी, जिससे किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी।

तोमर ने कहा, “प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य दिया है और इस दिशा में सभी प्रयत्न कर रहे हैं। जब हम किसानों की आय दोगुनी करने की बात करते हैं तो इसका मतलब है उत्पादकता बढ़े, बाजार व्यवस्था सुचारू हो, लागत में कमी आएं, फसल का उचित मूल्य मिले, कम दरों पर अच्छी क्वालिटी के बीज, उवर्रक व सिंचाई सुविधाएं मिलें। इन सभी के लिए केंद्र सरकार मोदी जी के नेतृत्व में काम कर रही है, जिसका फायदा किसानों को मिलेगा।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleजो रूट बने दूसरी बार पिता, सोशल मीडिया तस्वीर शेयर कर दी जानकारी
Next articleसालइवा बैन पर बोले नगिदी, गीली तौलिया काम कर सकती है
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here