Farmers Protest: KMP Expressway पर चक्का जाम, कृषि कानूनों का किया विरोध….

0

कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच अब तक 11 राउंड की वार्ता हो चुकी है। लेकिन दोनों पक्षों के बीच अब बातचीत आगे बढ़ती दिखाई नहीं दे रही है। दोनों ही पक्ष अपनी-अपनी दलीलों पर अड़े हुए हैं। केंद्र सरकार के तीनों नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के आंदोलन के 100 दिन पूरे हो चुके हैं। पिछले साल के 26 नवंबर से ही किसान हजारों की संख्या में दिल्ली की सीमाओं पर अलग-अलग जगह धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

तीनों नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन को 100 दिन पूरे हो चुके हैं। कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आज सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक KMP Expressway  जाम रहा। किसान आज काला दिवस मना रहे हैं। किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे होने के मौके पर किसान कुंडली-मानेसर-पलवल यानी KMP एक्सप्रेसवे पर 5 घंटे के लिए नाकेबंदी करेंगे। ये नाकेबंदी सुबह 11 बजे सुबह से शाम 5 बजे तक होगी। इसके अलावा दुहाई, डासना, बागपत, दादरी और ग्रेटर नोएडा पर किसान सड़क जाम करेंगे।

गौतलब है कि कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। किसानों की मांग एमएसपी की गारंटी को कानून बनाने की भी है। इस आंदोलन के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा के अनुसार, अलग-अलग कारणों अब तक कुल 284 लोगों की जान जा चुकी है। कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। किसानों की मांग एमएसपी की गारंटी को कानून बनाने की भी है। इस आंदोलन के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा के अनुसार, अलग-अलग कारणों अब तक कुल 284 लोगों की जान जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here