Farmers Protest 100 Days: सरकार से झगड़ा हुआ-राकेश टिकैत बोले- ना खेत छोड़ेंगे, ना सरकार….

0

कृषि कानूनों पर केंद्र सरकार और किसान संगठनो के बीच पीछले तीन महीने से गतिरोध बना हुआ है। दोनों ही पक्ष अपने तर्कों से पीछे हटने के लिए तैयार नहीं है। हाल में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि वे अपनी बात मनावाकर रहेंगे। अगर जरूरत पड़ी तो किसान अपनी फसलों को जला देंगे। इस बयान पर एक टीवी डिबेट में सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने तो किसान को फसल बर्बाद करने से रोका है।

भाकियू नेता ने कहा कि सरकार को लगता है कि किसान की जब फसल आएगी तो वह वहां से छोड़कर खेत लौट जाएगा। किसान ने कहा कि आंदोलन के बीच फसल आएगा तो वह फसल ही बर्बाद कर देगा। टिकैत ने कहा कि हमने उसे रोका और कहा कि इसे ऐसे बर्बाद ना करें। दिल्ली की तरफ कूच करें। सवाल के जवाब में टिकैत ने कहा कि हम भड़का नहीं रहे। देश में अगर कहीं फसल नहीं बिक रही,  मतलब कहीं तो एमएसपी पर खरीद होगी जहां कानून बने, किसान वहीं तो जाएगा।

राकेश टिकैत ने कहा कि किसान अपने खेतों में भी काम करेगा और आंदोलन को भी देखेगा। किसान आंदोलन और खेत नही छोड़ेगा और सरकार को भी नहीं छोड़ेगा। हमारा और सरकार का टकराव हो गया है। बता दें कि केंद्र सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। किसानों की मांग एमएसपी की गारंटी को कानून बनाने की भी है। इस आंदोलन के दौरान संयुक्त किसान मोर्चा के अनुसार, अलग-अलग कारणों अब तक कुल 284 लोगों की जान जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here