ईद-उल-फितर 2020: जानें पाक रमजान के आखिर में क्यों मनाई जाती है ईद…

0

रमजान का पाक महीना खत्म होने के बाद ईद का त्योहार हर्षोल्लास से मनाया जाता है। हालांकि, ईद की तारीख चांद के हिसाब से तय की जाती है। इस बार ईद-उल-फितर यानी मीठी ईद 25 मई को मनाए जाने की उम्मीद जताई जा रही है। मीठी ईद के दिन मुश्लिम समुदाय के घरों में मीठे पकवान के तौर पर सेंवईं  बनाते हैं। सुबह के वक्त मस्जिदों में नमाज अदाकर एक दूसरे के गले मिलकर ईद की बधाई देते हैं। इस्लाम धर्म का ये त्योहार भाईचारे का संदेश देता है।

ईद के दिन सुबह के वक्त मुस्लिम समाज के लोग नए कपड़े पहनकर ईदगाह या मस्जिदों में नमाज अदा करते हैं और अपने परिवार के अमन-चैन की दुआ करते हैं। ईद से पहले हर मुसलमान को फितरा देना फर्ज हैं। इसके तहत प्रति व्यक्ति पौने दो किलो अनाज या फिर उसकी कीमत गरीबों को दी जाती है।

इसके पीछे वजह ये है कि गरीब लोग भी ईद की खुशी में शामिल हो सकें। ऐसा माना जाता है कि पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब ने बद्र के युद्ध में जीत हासिल की। इस यूद्ध में फतह मिलने के बाद से लोगों ने ये त्योहार मनाना शुरू किया था।

पाक कुरान के अनुसार, रमजान के पाक महीने में मुस्लिम समाज के लोग रोजा रखते हैं और पांच वक्त नमाज अदा करते हैं। इस महीने में रोजे रखने के बाद अल्लाह इस दिन अपने बंदों को बख्शीश देते हैं। इस वजह से इस दिन को ईद कहते हैं। मुस्लिम समाज के लोग ईद के दिन खुदा की बारगाह में सिर झुकाते हैं और मालिक का शुक्रिया अदा करते हैं।

Read More…
कोरोना संकट से क्यों बदल जाएगा लोगों के जीवन जीने का तरीका, जानें वजह….
तीन महीने तक EMI नहीं चुकाने की मिली छूट, RBI गवर्नर ने किए ये बड़े ऐलान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here