ईडी ने जब्त किया Yes Bank founder राणा कपूर का 127 करोड़ का फ्लैट

0

यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने लंदन स्थित उनकी 127 करोड़ की संपत्ति को जब्त कर लिया। यह जानकारी शुक्रवार को अधिकारियों ने दी। ईडी के एक अधिकारी ने कहा कि एजेंसी ने राणा कपूर से जुड़े ब्रिटेन में एक आवासीय फ्लैट, जिसका पता अपार्टमेंट 1, 77 साउथ ऑडली स्ट्रीट, लंदन है उसे जब्त कर लिया गया है।

अधिकारी ने आगे कहा कि इस फ्लैट का बाजार मूल्य 1.35 करोड़ पाउंड (127 करोड़ रुपये) है और इस फ्लैट को राणा कपूर ने 2017 में 99 लाख पाउंड (93 करोड़ रुपये) में डीओआईटी क्रिएशंस जर्सी लिमिटेड के नाम से खरीदा था, जो उनके स्वामित्व वाली कंपनी थी।

वित्तीय जांच अधिकारियों के अनुसार, एजेंसी को एक विश्वसनीय स्रोत से खबर मिली थी कि राणा कपूर लंदन में इस संपत्ति को बेचने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है और इस काम के लिए उन्होंने वहां के एक प्रतिष्ठित संपत्ति सलाहकार को काम पर रखा था।

अधिकारी ने कहा, “स्रोतों से पूछताछ में पता चला है कि इस संपत्ति को कई वेबसाइटों पर बिक्री के लिए सूचीबद्ध किया गया है।”

ईडी ने इस साल 7 मार्च को केंद्रीय जांच ब्यूरो के आधार पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। ईडी ने कपूर, उनकी पत्नी और बेटियों, वाधवां भाइयों और पांच फर्मों सहित 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

वाधवां भाईयों को 26 अप्रैल को महाराष्ट्र के महाबलेश्वर हिल स्टेशन से सीबीआई ने गिरफ्तार किया था और बाद में मई में ईडी ने भी उन्हें गिरफ्तार किया।

ईडी ने 9 जुलाई को कपूर और उनके परिवार और वधावां भाईयों और अन्य के 3,700 करोड़ के धोखाधड़ी के मामले में पीएमएलए के तहत 2,203 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की थी, जिसमें उनके 344 बैंक खाते, निवेश और भारत, न्यूयॉर्क और ऑस्ट्रेलिया के महंगे वाहन शामिल थे।

वर्तमान में जब्त किए गए संपत्ति के साथ ईडी ने राणा कपूर द्वारा 600 करोड़ रुपये के पूरी संपत्ति सफलतापूर्वक जब्त कर लिया है।

बाकी 1,411 करोड़ रुपये का अटैचमेंट वधावन भाइयों से संबंधित है।

उपरोक्त जब्ती के अलावा, ईडी ने राणा कपूर की एक और संपत्ति को भी एक अन्य पीएमएलआर मामले में 307 करोड़ रुपये के मूल्य के साथ जब्त किया है। इसके साथ ही राणा कपूर से जुड़े कुल 907 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली गई है।

ईडी ने राणा कपूर, कपिल वाधवां, धीरज वाधावा और उनके सहयोगियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleAmazon Prime Video ने इंटरनेशनल एमी अवार्डस में बनाई अपनी जगह
Next articleBihar Election 2020: JDU में शामिल होंगे बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, CM नीतिश से मुलाकात आज
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here