नीतीश कुमार ने सभा के दौरान खोया आपा बोले “बाप से पूछो अपनी माता से पूछो”

0

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 2020 विधानसभा चुनाव के लिए आयोजित सभा में अपना आपा खो बैठे। शनिवार को बेगुसराय ज़िले के तेघडा विधानसभा में अपने भाषण के दौरान सीएम नीतीश कुमार एक बार फिर भाषा की मर्यादा भूल गए…उन्होंने आरजेडी शासन काल का ज़िक्र करते हुए कहा, ‘जब लोगों को मौक़ा मिला तो क्या किए, एक स्कूल बनाया था?’ फिर उन्होंने तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना कहा, “अगर पढ़ना चाहते हो तो अपने बाप से पूछो अपनी माता से पूछो कि कहीं कोई स्कूल था, कहीं कोई स्कूल बन रहा था, कहीं कोई कॉलेज बन रहा था? ज़रा पूछ लो…राज करने का मौक़ा मिला तो ग्रहण करते रहे और जब अंदर चले गए, तो पत्नी को बैठा दिया गद्दी पर.”
इसके बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अब कोई इस तरह का गलत काम करता हो तो बताओ। अब बिहार में कोई इस तरह का गलत काम नहीं कर सकता है और अगर कोई करता है तो वह सीधा अंदर जाएगा।
नीतीश कुमार ने लालू राबड़ी का कार्यकाल याद दिलाया और कहा कि उस समय अपराध फिरौती जैसी चीजें चरम पर थी। लेकिन अब कितना विकास हुआ है।

इस बार के विधानसभा चुनाव में आयोजित कई सभाओं में देखा गया है कि नीतीश कुमार भाषण के दौरान जब कभी लालू-राबड़ी राज या तेजस्वी यादव के चुनावी वादे (रोज़गार संबंधी) का का जिक्र होता है तो उसके जवाब में सीएम अपना आपा खो बैठते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here