जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से कई वन्य जीव विलुप्त होने के कगार पर, गायब हुए 40 फीसदी जीव

0

जयपुर।जलवायु परिवर्तन का असर अब पूरे विश्व पर लगभग दिखाई देने लगा है और कई पकार की प्राकृतिक घटनाओं के रूप में हमारे सामने भी आने लगा है।वहीं इस जलवायु परिवर्तन के चलते लंबे समय तक सूखे और मौसम में बदला के चलते ऑस्ट्रेलिया में पाई जाने वाली प्लैटीपस की प्रजाति विलुप्त होने की कगार पर आ खडी दिख रही है।जलवायु परिवर्तन पर प्रकाशित एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने ग्लोबल वार्मिग के कारण इस जीव के भविष्य और जैव-विविधता

पर पड़ने वाले प्रभावों के प्रति आशंका जताते हुए धरती से इस जीव के विलुप्त जाने के बारे में बताया गया है।ऑस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले इस जीव के पास बतख की तरह चोंच होने के साथ बीवर जैसी पूंछ और ऊदबिलाव जैसे पैर पाए जाते है।वहीं इसके पिछले पैर में डंक मारने वाले विषैले कांटे भी होते है,जिनकी मदद से यह अन्य जीवों से खुद की सुरक्षा

करता है।इस जीव पर छाए संकट को लेकर शोधकर्ताओं ने बताया है कि ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट पर पाया जाने वाला यह जीव सूखे के कारण अब तक लगभग 40 फीसदी तक समाप्त हो चुके है।

शोधकर्ताओं ने बताया कि बांधों के निर्माण से इन जीवों के आवासों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है। शोधकर्ताओं का अनुमान है कि यदि जलवायु की स्थिति ऐसी ही अनिश्चित बनी रहती है तो अगले 50 वर्षो में प्लैटिपस 46 से 66

प्रतिशत तक और विलुप्त हो जायेंगे।शोधकर्ताओं ने बताया कि यदि जलवायु परिवर्तन और बढता है तो इन स्तनपायी जानवरों की संख्या में भारी कमी देखने को मिल सकती है जिससे कि इस खतरे के चलते इन जीवों की विलुप्त होने की संभावना और बढ़ रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here