कम सिगरेट पीना भी बन सकता है मौत का कारण ये है वजह

0
139

जयपुर। हाल ही में अध्ययन से पता चला है कि जो लोग कभी-कभी धूम्रपान करते हैं या जो एक दिन में एक से कम सिगरेट का सेवन करते हैं वे अब भी नहीं करने वालों की तुलना में जल्दी मरेंगे।

जैमा आंतरिक चिकित्सा पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में यह पता चला है कि जीवनकाल में कम धूम्रपान भी फेफड़े के कैंसर और हृदय रोग से होने वाली मौतों सहित, सभी कारण मृत्यु दर के बहुत अधिक जोखिम का कारण बन सकता है।


इन निष्कर्षों से पता चलता है कि प्रति दिन सिगरेट की एक छोटी संख्या में भी धूम्रपान का काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इस अध्ययन के परिणाम स्वास्थ्य चेतावनियों का समर्थन करते हैं कि तंबाकू के धुएं का कोई सुरक्षित स्तर नहीं है।

लोग अपने जीवन में प्रति दिन एक से कम सिगरेट का धुआं धूम्रपान करते हैं। गैर-धूम्रपान करने वालों की तुलना में 64 प्रतिशत पहले मर जाते हैं दूसरी ओर, जो लोग प्रति दिन लगभग एक से दस सिगरेट पीते हैं, वे 87 प्रतिशत अधिक मौत का अनुभव करते हैं।

शोधकर्ताओं ने पाया कि प्रति दिन एक से भी कम सिगरेट धूम्रपान करने वाले लोग फेफड़ों के कैंसर से मरने की नौ गुना अधिक संभावना रखते हैंए जबकि प्रति दिन एक और 10 सिगरेट के बीच धूम्रपान करने वालों का 12 गुना अधिक जोखिम होता है और गैर धूम्रपान करने वालों की तुलना में, फेफड़े के कैंसर से मर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here