बचे हुए तेल का करते है दोबारा इस्तेमाल, तो हो सकते है ये घातक रोग

0

जयपुर। मनुष्य हो या जानवर सभी को जीने के लिए भोजन, पानी जैसे कई चीजों की आवश्कता होती रहती है। इन्ही चीजों को हम अपने मुंह के माध्यम से लेकर अपनी आवश्यकता की पूर्ति करते हैं। तो आप इस बात का अंदाज लगा सकते है कि हमारे मुंह का साफ रहना कितना जरूरी होता है।

डॉक्टर बताते है कि अक्सर मुंह में छाले, काले मसूड़े, भूरे-पीले दांत, मसूड़ों से खून निकलने, दांतों में सड़ने और कैविटीज जैसी मुंह से जुड़ी तमाम समस्याओं को छोटी समस्या मानकर नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन ऐसा करना आपके और आपके स्वास्थ्य दोनों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

विशेषज्ञों के अनुसार मुंह में कोई रोग होने पर इसका असर आपके जोड़ों पर पड़ता है। इसी तरह अगर आपको पहले से जोड़ों की कोई समस्या है, तो मुंह की गंदगी इसे और ज्यादा बढ़ा सकती है। विशेषज्ञ इसके बारे में बताते है कि मसूड़ों और जोड़ो का स्वास्थ्य एक—दूसरे से जुड़ा हुआ रहता है।

क्योंकि मसूड़ों और जोड़ों दोनों समस्याओं का मुख्य कारण सूजन है। जोड़ो की समस्या को र्यूमेटॉइड अर्थराइटिस कहा जाता है। र्यूमेटॉइड अर्थराइटिस एक गंभीर स्थिति है जिसका असर शरीर के अन्य उतकों पर भी पड़ता है। विशेषज्ञ इसके इलाज के बारे में बताते है कि वर्तमान में इस रोग से बचने के लिए मरीज का कई दवाओं के माध्यम से इलाज किया जाता है।

इसके विपरीत ऐसा पाया गया है कि बहुत से लोग जो र्यूमैटॉइड अर्थराइटिस से ग्रस्त हैं,उनका समय से इलाज न होने, अनियंत्रित और असमुचित इलाज के कारण जोड़ों के क्षतिग्रस्त होने के चलते घुटने, कूल्हे, कोहनी, कंधे और उंगलियां विकारग्रस्त हो जाती हैं। इससे बचने के लिए विशेषज्ञ बताते है कि हमेशा मुंह की अच्छी तरह से सफाई करते रहना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here