डॉक्टरों ने ममता बनर्जी को माफ़ी मांगने कहा, आंदोलन वापस लेने के लिए शर्तें रखीं

0
95
SIGNUM:?³ç Y¦@q¸îCp Ñ¡

जयपुर। पश्चिम बंगाल में आंदोलनकारी डॉक्टरों ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बे शर्त माफी मांगने और 4 दिनों से चल रहे आंदोलन को वापस लेने के लिए राज्य सरकार से अपनी कुछ अच्छे शब्दों की मांग करी है और उन्हीं के पूरा होने पर स्ट्राइक को बंद करने की बात कही है.

आपको बता दें कि वह पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के आंदोलन से समूचे राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावित होना पड़ रहा है और इसके चलते वहीं करीब खबर यह कि 119 डॉक्टरों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है वहीं आपको बता दें कि मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार दार्जिलिंग उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज और अस्पताल कि करीब 119 डॉक्टरों ने अस्पताल में हो रही हिंसा को लेकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इसके अलावा आपको बता दें कि यह स्ट्राइक अवसर पर पश्चिम बंगाल तक सीमित न रहकर भर के अन्य राज्यों में भी अपने पैर पसार रही है और यह देशव्यापी हो चुकी है.

इस स्ट्राइक को लेकर शुक्रवार को जहां एक तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी सभी डॉक्टरों से अपील करें कि वह इस ट्रैक को छोड़ दें इसके अलावा उन्होंने ममता बनर्जी को पत्र लिखने की भी बात कही वहीं आपको बता दें इसके साथ-साथ पश्चिम बंगाल के हाई कोर्ट ने भी इस मामले में संज्ञान लेते हुए पश्चिम बंगाल सरकार से इस हड़ताल को लेकर 7 दिन में जवाब मांगा है और इसके अलावा ममता बनर्जी को निर्देश दिए हैं कि वे डॉक्टरों से बात कर इस हड़ताल को खत्म करें.

आपको बता दें कि यह पूरी हड़ताल तब शुरू हुई जब पश्चिम बंगाल में एक जूनियर डॉक्टर पर पर एक हमला हुआ और उसके बाद सुरक्षा को लेकर सभी डॉक्टरों ने हड़ताल की शुरुआत करी अब यह बढ़कर दिल्ली राजस्थान महाराष्ट्र जैसे राज्यों में भी पहुंच चुकी है.

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों की मांग अपनी सुरक्षा को लेकर है और इसीलिए उन्होंने छह मांगे रखी है जिससे वे चाहते हैं कि राज्य सरकार मान ले और उसके बाद वह फिर से काम पर लौट जाएंगे.

इसके अलावा शुक्रवार को खबर आएगी कि डॉक्टरों की स्ट्राइक पर होने से देश भर में कई जगहों पर मरीजों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. वहीं कहीं सर्जरी ओं को भी रद्द करना पड़ा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here