HIV/AIDS से भी खतरनाक है यह बीमारी, अगले 5 सालों में मचा सकती है तबाही

0
172

जयपुर, दोस्तो एड्स एक ऐसी बीमारी है जिसका इलाज आज तक संभव नहीं हो पाया है। हालांकि वैज्ञानिक रात दिन एक कर के इस वायरस को खत्म करने की तैयारी कर रहे है, लेकिन इसी बीच उनके लिए एक और बीमारी पेरसानी बनकर सामने आ गई है। इस बीमारी का नाम माइकोप्लाज्मा जेनिटैलियम (Mycoplasma genitalium or MG) है इसके वायरस ने पूरे  मेडिकल जगत को परेशानी में डाल दिया है। एड्स की तरह यह बीमारी भी संबंध बनाने से ही फैलती है। चिकित्सकों का कहना है कि यह एड्स से भी ज्यादा खतरनाक है।Image result for असुरक्षित यौन संबंध

अगर समय रहते इसके इलाज की खोज नहीं की गई तो आने वाले पांच सालों में यह तबाही मचा सकती है। जो पूरे विश्व के लिए एक भारी समस्या बन सकती है। एमजी का वायरस मुख्य रूप से शारीरिक संबंध बनाने से फैलता है। इसकी सबसे बड़ी चिंता की बात तो यह है कि इस बीमारी का कोई लक्षण दिखाई नहीं देता है। हालांकि इसके बाद से कुछ महिलाओं को पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज की समस्या सामने आई है।Image result for असुरक्षित यौन संबंध

एंटीबॉयोटिक्स की एक निश्चित डोज देकर इस बीमारी का इलाज किया जा सकता है लेकिन कई बार इसके इलाज में देरी करने पर यह भयंकर रूप धारण कर लेती है।  सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक  एमजी शारीरिक संबंध बनाने से या जननांगों के संपर्क से फैलता है। ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ सेक्सुअल हेल्थ एंड एचआईवी ने इस बीमारी के फैलने का कारण ओरल सेक्स माना है।Image result for असुरक्षित यौन संबंध

आपको यह बीमारी असुरक्षित यौन संबंध बनाने से फ़ैल सकती है। 1980 में पहली बार इस बीमारी की पहचान की गई थी। यह बीमारी क्लैमाइडिया और गोनोरिया जैसी ही है। इस बीमारी के हो जाने पर पुरुषों में ये लक्षम दिखाई देने लगते है। शुरूआत में  मूत्रमार्ग में सूजन आ जाती है। पैशाब करते समय जलन होती है। साथ ही दर्द होनें की शिकायत भी होती है। वहीं महिलाओं में यह बीमारी होनें पर प्रजनन अंगों में सूजन रहने लगती है। बुखार आना व मासिक धर्म के दौरान लगातार खून आना इसके प्रमुख लक्षण माने जाते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here