Delhi Violence: हिंसा में अब तक 34 की मौत, CM केजरीवाल ने बुलाई आपात बैठक

0

दिल्ली में पिछले 3 दिन तक फैली नफरत की आग में जलकर सब खाक हो गया है। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर राजधानी में हुई हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में अब तक 34 लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में घायलों की संख्या 250 के करीब है। इस हिंसा में 70 लोगों को गोली लगी थी। मृतकों की संख्यां में सीकर के हेड कांस्टेबल रतन लाल और आईबी अफसर अंकित शर्मा भी शामिल हैं।

बुधवार को भजनपुरा, सीलमपुर, मौजपुर, बाबरपुर और जाफराबाद सहित उत्तर पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों में आगजनी और तोड़फोड़ की खबरें आई थी। गुरुवार को हिंसा को लेकर कोई बड़ा मामला जानकारी में नहीं आ पाया है। नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के चांदबाग इलाके के एक नाले से दो और शव पुलिस को मिले हैं। शवों पर चाकू के निशान मिले हैं। ऐसे में पुलिस हत्या की आंशका से इनकार नहीं कर रही है। आईबी अफसर का शव भी एक नाले से ही पुलिस ने बरामद किया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिंसा से प्रभावित लोगों के पुनर्वास को लकेर उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में बैठक में मुख्य सचिव सहित तमाम बड़े अधिकारियों को बुलाया गया है।

दिल्ली हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में बुधवार रात से ही पुलिस फ्लैग मार्च निकाल रही है। अब चप्पे-चप्पे पर पुलिस के जवान तैनात हैं। ऐसे में पुलिस की सक्रियता तीन दिन बाद देखने को मिल रही है। पुलिस ने दंगा फैलाने वाले 130 लोगों को गिरफ्तार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here