Delhi students कर सकेंगे रेडियो स्टेशन से जुड़े कोर्स

0

प्रसार क्रिएशन इंस्टीट्यूट दिल्ली के छात्रों के लिए रेडियो स्टेशन से जुड़े विभिन्न रोजगारपरक कोर्स लॉन्च कर रहा है। इसके लिए दिल्ली सरकार की सहायता ली जाएगी। सोमवार को रेडियो स्टेशन का उद्घाटन ऑल इंडिया रेडियो के एफएम रेनबो के अतिरिक्त निदेशक कार्यक्रम जैनेंद्र सिंह व दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन के प्रभारी प्रोफेसर हंसराज ने किया।

इस अवसर पर सिंह ने कहा, “रेडियो मनोरंजन की दुनिया का सर्वसुलभ और अत्यंत विश्वशनीय माध्यम रहा है। टेलीविजन से आप ऊब सकते हैं लेकिन रेडियो हमेशा आपको अपने से जोड़े रखता है। रेडियो किसी भी समय और स्थान पर आम जन के बीच सहजता से सूचनाएं भी भेजता है। स्वस्थ मनोरंजन भी करता है। रेडियो की दुनिया में सर्जनात्मक टेलेंट आप को देखने को मिलेगा, इसमें नए-नए शब्दों को लोगों की रुचि के अनुसार पहुंचाया है।”

दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हंसराज ‘सुमन’ ने कहा, “मीडिया स्टरडीज के ²ष्टिकोण से देखें तो रेडियो एक अत्यंत रोजगारपरक साधन बन गया है। इसमें कम से कम समय में आप ट्रेनिंग प्राप्त करके रेडियो जॉकी, रेडियो प्रजेंटर ,प्रोड्यूसर, प्रोमो प्रोड्यूसर ,असिस्टेंट प्रोड्यूसर, प्रोग्रामिंग डायरेक्टर, प्रोग्रामिंग हेड, वॉयस ओवर एक्टर बन सकते हैं।”

उन्होंने कहा कि आज सूचना क्रांति के समय रेडियो लोगों के घर से निकलकर मोबाइल फोन के जरिये उनकी पॉकेट तक पहुंच गया है।अब ऐप डाउनलोड करिए और बिना किसी रुकावट के मनोरंजन का लाभ ले सकते हैं।

प्रोफेसर सुमन ने आगे कहा कि इंटरनेट के दौर के बावजूद सोशल मीडिया, वट्सएप और टीवी के प्रति लोगों में लोकप्रियता कम हुई है लेकिन रेडियो का महत्व बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज लोगों के पास समय की कमी है, इसलिए वह मनोरंजन के माध्यम से रेडियो पर अपने मनचाहे कार्यक्रम सुन सकता है।

साथ ही युवाओं के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र भी है, जहां वे रेडियो जॉकी, वाइस ओवर, वाइस मॉड्यूलेशन, एंकरिंग, एडिटर, पड्र्यूसर, कॉपी एडिटर न्यूज एंकर आदि कोर्स के माध्यम से कम खर्चे पर कौशल प्राप्त कर सकते हैं। इससे उनके रोजगार के अवसर भी बढ़ जाएंगे। साथ ही गरीब व समाज के हाशिए पर रह रहे लोगों के लिए समाचारों के माध्यम से मदद भी करता है।

रेडियो जॉकी, वाइस ओवर, वाइस मॉड्यूलेशन, एंकरिंग, एडिटर, पड्र्यूसर, कॉपी एडिटर न्यूज एंकर आदि कोर्स शुरू करने के लिए दिल्ली सरकार को आवेदन भेजा जाएगा।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleनई शिक्षा नीति से इंस्टीट्यूट आफ एमिनेंस का होगा अंतर्राष्ट्रीयकरण: Nishank
Next articleलॉकडाउन से Goa Tourism को 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान’
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here