दिल्ली : गोदरेज इंटीरियो लेकर आया पोश्चर सपोर्ट मेट्रेस

0
112

दिल्ली इन दिनों नींद की कमी से बेहाल है। एक शोध से पता चला है कि 51 प्रतिशत से अधिक दिल्लीवासी मध्यरात्रि के बाद सोते हैं और लगभग 35 प्रतिशत प्रतिदिन छह घंटे से कम नींद लेते हैं। गोदरेज इंटीरियो द्वारा ‘स्लीप/10’ स्टडी अभियान के तहत मेट्रो शहरों में रहने वाले 8,000 भारतीयों को लेकर किए गए अध्ययन के अनुसार यह देर रात तक जगने की खतरनाक प्रवृत्ति केवल दिल्ली तक ही सीमित नहीं है, बल्कि देश भर का यही हाल है।

गोदरेज इंटीरियो ने अच्छी नींद के लिए देशवासियों को आरामदायक मेट्रेस का तोहफा दिया है। नियम से पूरी नींद लेने की हिमायती अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर अदिति चैहान ने इस मेट्रेस को लॉन्च करते हुए बताया कि एक एथलीट के जीवन में नींद की महत्वपूर्ण भूमिका है, एक अच्छी नींद वाली दिनचर्या से खुद उनके खेल जीवन की सफलता में बड़ी मदद मिली है।

गोदरेज इंटीरियो ने साइंटिफिक और एर्गोनॉमिकली रूप से विकसित मेट्रेस की श्रेणी में बहुत मजबूत कदम उठाया है। पोश्चर सपोर्ट मेट्रेस को कुछ इस तरह डिजाइन किया गया है कि यह आपके सोने वाली शारीरिक मुद्रा के अनुसार अनुकूलित हो जाता है। यह तीन तरह की बॉडी- लीन (40-60 किलो), मीडियम (50-90 किलो) और हाई बिल्ट (80-100 किलो) के लिए उपयुक्त तीन प्रकारों में आता है।

स्लीप एट 10 पहल के माध्यम से, गोदरेज इंटीरियो का मकसद लोगों को यह बताना है कि अच्छी नींद का संबंध केवल शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि मानसिक स्वास्थ्य से भी है। ब्रांड यह बता रहा है कि अगर आप गद्दों को लेकर लापरवाही बरतते हैं तो अंतत: इसका असर देश के सामाजिक-आर्थिक विकास को भी प्रभावित कर सकता है। नई पोश्चर सपोर्ट मेट्रेस रेंज की कीमत 16,000 से 53,000 रुपए के बीच है।

अदिति चौहान ने कहा, “फुटबॉल एक बहुत चुस्ती-फुर्ती की मांग करने वाला खेल है, जिसमें एकाग्रता और फिटनेस बहुत मायने रखते हैं। एक थके हुए या नींद से हारे हुए शरीर के साथ आप ऐसे खेलों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएंगे। इसलिए, पर्याप्त और गुणवत्ता से भरी नींद जरूरी है क्योंकि यह शरीर और मन को तरोताजा करती है, जिससे कोई भी शख्स अपने काम में अपना सर्वश्रेष्ठ दे पाता है।”

गोदरेज इंटीरियो के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर अनिल माथुर ने कहा, “हम हमेशा से मानते आए हैं कि एक अच्छी नींद का बहुत कुछ संबंध सोने वाले गद्दों से भी होता है। यदि गद्दे बेहतर है, तो यह नींद की गुणवत्ता को कई गुणा बढ़ाकर और अधिक आरामदायक नींद प्रदान करता है, गुणात्मक रूप से भी और और मात्रात्मक रूप से भी। इसलिए, हमने अपने स्लीप/10 अभियान के हिस्से के रूप में इस क्रांतिकारी पोश्चर सपोर्ट मेट्रेस को लॉन्च किया है ताकि इस परेशानी को जल्द से जल्द कम किया जा सकें।”

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleपत्नी नहीं बन सकी मां तो इलाज के नाम पर भेजा दिया मायके, वापस लौटी तो घर का नजारा देखकर रह गई सन्न फिर किया ये चौंकाने वाला काम
Next articleयुवराज सिंह हुए भावुक, कह दी वर्ल्डकप 2019 के बारे में इतनी बड़ी बात
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here