Covid 19 Vaccine: दिल्ली HC की सख्त टिप्पणी, कोरोना का टीका लग नहीं रहा और हम दान दिए जा रहे….

0

दिल्ली हाईकोर्ट ने आज एक याचिका की सुनवाई करते हुए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके को लेकर अपनी निर्माण क्षमता का खुलासा करने का निर्देश जारी किया है। साथ ही अदालत ने कोराना का टीका बाहर भेजे जाने को लेकर भी टिप्पणी की है। कोर्ट ने कहा कि कोरोना के टीके दान दिए जा रहे हैं और अन्य देशों को बेचे जा रहे हैं। अपने लोगों को टीकाकरण नहीं किया जा रहा है।

हाईकोर्ट ने केंद्र से फिलहाल कोरोना टीकाकरम के लिए व्यक्तियों के वर्ग पर सख्त नियंत्रम रखने के तर्क के बारे में भी पूछा है। यही नहीं दिल्ली हाईकोर्ट ने केजरीवाल सरकार से भी कहा है कि वो अदालत परिसरों में चिकित्सा केंद्रो का निरीक्षम करें और बताएं कि क्या वहां पर कोरोना टीकाकरण केंद्र स्थापित करने की संभावना है। केंद्र सरकार ने चरणबद्ध तरीके से टीकाकरण को मंजूरी दी है। इसके पहले चरण में चिकित्साकर्मियों और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों का टीकाकरण किया गया है।

भारत में कोरोना वायरस के टीकाकरण का महाअभियान शुरू हो चुका है। कोरोना वायरस की वैक्सीन आने से महामारी के के खात्मे की उम्मीद तो जगी लेकिन सब कुछ इतने जल्दी सामान्य नहीं होता दिख रहा है। भारत में अब तक 1.63 करोड़ से अधिका लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई जा चुकी है।अब तक किसी पर कोई बीमार नहीं पडा है।  हालांकि कुछ लोगों के के कोरोना वैक्सीनेशन के साइड इफेक्ट हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here