पुण्यतिथि: एक ही मां के दो बेटे, एक ने लिया जन्म तो दूसरे ने कहा दुनिया को अलविदा

0
33

बॉलीवुड मे महान दिग्गजों की कमी नहीं है अपने काम और अपने टैंलेंट से आज सभी ने अपनी खास जगह बना रखी है लेकिन इस सिलसिले में आज हम ऐसे दिग्गज की बात कर रहे है जो कि इंडस्ट्री का नायाब हीरा था जी हां ये कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के एक्टर, सिंगर, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर, म्यूजिक डायरेक्टर और सबसे बढ़कर एक कमाल के व्यक्ति किशोर कुमार थे।जी हां आज ही के दिन किशोर ने दुनिया को अलविदा कहा था।इसी दिन 13 अक्टूबर 1987 को उनकी मृत्यु हुई थी।

बता दें बड़े दुर्भाग्य की बात है एक ही मां की कोख से पैदा हुए दो बच्चों के लिए ये काफी खुशी और दुख का दिन है जहां किशोर कुमार ने आज ही के दिन दुनिया को अलविदा कहा था तो वही दूसरी तरफ उनके बडे भाई अशोक कुमार ने आज इस दुनिया में जन्म लिया था।एक इंटरव्यू के दौरान जब अशोक से किशोर की आवाज के लिए पूछा गया था तो उन्होनें कहा-

बचपन में किशोर की आवाज फटे बांस जैसी थी, लेकिन एक बार उनका पांव सब्जी काटने वाली दराती से कट गया था। डॉक्टरों ने उंगली का तो इलाज कर दिया लेकिन किशोर का दर्द नहीं गया। वो कई दिनों तक दर्द के कारण जोर-जोर चिल्लाते रहते थे। इस घटना की वजह से उनका ऐसा रियाज हुआ कि उनकी आवाज ही बदल गई। किशोर की यह नई आवाज उस हादसे की देन थी।गौरतलब है किशोर कुमार ने कभी संगीत की कोई ट्रेनिंग नहीं ली, तब भी वे इंडस्ट्री के टॉप सिंगर्स में गिने जाते हैं।

किशोर कुमार ने हिंदी फिल्मों में करीब 600 फिल्मों के गानो में अपनी आवाज दी थी।सिर्फ इतना ही नहीं उन्होनें बंगला, मराठी, असामी, गुजराती, कन्नड़, भोजपुरी और उडिया फिल्मों  में भी अपनी आवाज दी थी।किशोर कुमार ने पहला गाना मरने की दुआएं क्यों मांगू गाया था।बता दें खास बात तो ये है एक महान गायक होने के बावजूद भी किशोर कुमार अपनी गायकी का सिर्फ एक रुपया फीस के तौर पर लेते थे।

किशोर कुमार के निजी जीवन की बात करें तो उन्होनें चार शादियां की थी जिसमें उनकी पहली पत्नी बांग्ला अभिनेत्री और गायिका रूमा गुहा ठाकुरता थीं।वही साल ये शादी 1950 से 1958 तक चली। अपनी पहली शादी पर किशोर ने कहा था कि दोनों का जिंदगी को देखने का नजरिया अलग था, इसलिए शादी नहीं चली। किशोर चाहते थे कि वो घर संभालें। करियर से ज्यादा अहम घर है।बता दें किशोर कुमार ने अपनी मौत के अंतिम क्षणो में भी काम करना नहीं छोडा था 12 अक्टूबर को उनकी आवाज में उन्होनें गुरु गुरु गाना रिकॉर्ड किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here