संभलकर लगाएं घर में पर्दे, ये बदल सकते हैं आपकी तकदीर

0

वास्तुविज्ञान में रंगों को खास महत्व दिया जाता हैं घर में उचित रंगों के प्रयोग से वास्तुदोष समाप्त हो जाता हैं वही घर में वास्तु के विपरीत रंगों का प्रयोग करने से वास्तुदोष उत्पन्न होकर अनेकों परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता हैं घर में दिशाओं के अनुरूप परदों के रंग और ​डिजाइन का सही चयन करने से न केवल आपका घर खूबसूरत लगेगा

बल्कि आपको सुकून भी महसूस होगा और घर के सभी कमरों में सकारात्मक शक्ति को संतुलित भी किा जा सकता हैं इससे घर या कार्यालय जहां भी आप परदे लगा रहे हैं वहां सुख सम्पन्नता और प्रसन्नता का माहौल हमेशा ही बना रहता हैं तो आज हम आपको वास्तु अनुसार पर्दें लगाने के टिप्स देने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

अगर आप करियर को लेकर ​परेशान रहते हैं और नौकरी की तलाश खत्म नहीं हो रही हैं तो आपको घर की पूर्व दिशा में रहे रंग के पर्दे लगवाने चाहिए। अगर आपका घर पूर्वमुखी हैं और आप इस दिशा की खिड़कियों और दरवाजों पर परदे लगाने का सोच रहे हैं तो घर में सौहार्दपूर्ण वातावरण के विकास और मान सम्मान में वृद्धि के लिए यहां पर आप अंडाकार डिजाइन या फूलों के पैटर्न अथवा स्ट्रिप्स या इससे मिलते जुलते पैटर्न के परदे लगाना शुभ होगा। पूर्व दिशा में अंडाकार डिजाइन जीवन में तरक्की के नए नए मार्गों को प्रशस्त करता हैं। वही इस दिशा में परदों के रंग का चयन करते समय ध्यान रखें कि सात्विक और सकारात्मकता प्रदान करने वाले रंग जैसे केसरिया, पीला, हरा, गुलाबी, हल्का नारंगी रंगों का इस्तेमाल समृद्धि को बढ़ाता हैं। पढ़ने वाले बच्चों को मानसिक शांति मिलेगी और वे एकाग्रचित्त होकर पढ़ाई भी कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here