कॉरपोरेट कर कटौती से निवेश बढ़ाने में मिलेगी मदद : मोदी

0
32

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर को युक्तिसंगत बनाने को लेकर की गई घोषणाओं की सराहना की और कहा कि इस कदम से दुनियाभर से निजी निवेशकों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी और रोजगार का सृजन होगा। प्रधानमंत्री ने इस फैसले को ऐतिहासिक बताया। उन्होंने ट्वीट किया, “कॉरपोरेट कर में कटौती ऐतिहासिक है। इससे मेक इन इंडिया को काफी प्रोत्साहन मिलेगा और दुनियाभर से निजी निवेश आएगा। इससे हमारे निजी क्षेत्र में स्पर्धा बढ़ेगी, रोजगार का सृजन होगा, जिसके फलस्वरूप 130 करोड़ भारतवासियों को लाभ मिलेगा।”

मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि हालिया घोषणाएं भारत में कारोबारी सुगमता का माहौल बनाने की दिशा में सरकार के प्रयासों को दर्शाती हैं।

उन्होंने कहा, “पिछले कुछ सप्ताह के दौरान की गई घोषणाएं साफ तौर पर दर्शाती हैं कि सरकार भारत को कारोबार के लिहाज से बेहतर स्थान बनाने, समाज के सभी वर्गो के लिए अवसर बढ़ाने और भारत को 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए समृद्धि बढ़ाने को लेकर कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती है।”

सीतारमण ने जुलाई में अपने पहले बजट भाषण में भारत को 2024-25 तक 50 खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के सरकार के लक्ष्य की घोषणा की थी।

वित्तमंत्री द्वारा शुक्रवार को की गई कतिपय कदमों की घोषणाओं में सबसे महत्वपूर्ण फैसला घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर में कटौती है।

सीतारमण ने किसी प्रकार की छूट व प्रोत्साहन प्राप्त नहीं करने वाली घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर घटाकर 22 फीसदी करने की घोषणा की।

इन कंपनियों को किसी प्रकार का न्यूनतम वकल्पिक कर (एमएटी) का भी भुगतान नहीं करने की आवश्यकता होगी। इस मामले में लागू कर की दर 25.17 फीसदी होगी, जिसमें सेस (उपकर) और सरचार्ज शामिल हैं।

वित्तमंत्री ने विनिर्माण के क्षेत्र में नया निवेश करने वाली नई घरेलू कंपनियों के लिए कॉरपोरेट कर की दर घटाकर 15 फीसदी करने की घोषणा की। इन कंपनियों को मार्च 2023 को या उससे पहले उत्पादन आरंभ करना होगा और उन्हें एमएटी से भी राहत मिलेगी।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleबजट स्मार्टफोन Infinix Hot 8 की अगली सेल 24 सितंबर को निर्धारित, इतनी है कीमत
Next articleराहुल गांधी ने कहा, कर कटौती मोदी के अमेरिका दौरे के लिए
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here