Coronavirus: OPEC देशों ने बुलाई आपात बैठक, कच्चे तेल पर होगी चर्चा

0
A pumpjack from California-based energy company Signal Hill Petroleum is seen in front of the landmark Curley's Cafe, one of two pumpjacks in the Diner's parking lot which has been churning out oil from the ground below since 1921 in Signal Hill, California on October 21, 2019. - The city of Signal Hill, measuring 2.25 square miles, sits within the Long Beach Oil Field, where oil production began after discovery in 1919. (Photo by Frederic J. BROWN / AFP) (Photo by FREDERIC J. BROWN/AFP via Getty Images)

कोरोना वायरस के कहर के बीच दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पस्त नजर आ रही है। इस कारण कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट आई है। कोरोना संकट के बीच कच्चे तेल के प्रमुख उत्पादक और निर्यातक देशों के मंच ओपेक की आपात बैठक होने जा रही है। 6 अप्रैल को ओपेके की वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए ये बैठक होनी है।

बताया जा रहा है कि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच फोन पर बात होने के बाद ये बैठक बुलाने का निर्णय लिया गया है। इस बैठक में रूस के नेतृत्व वाले अन्य प्रमुख खनिज तेल उत्पादक देशों के समूह भी शामिल होंगे।

बैठक बुलाने को लेकर क्या मकसद है। विशेषज्ञों के अनुसार, बैठक का अहम उद्देश्य कच्चे तेल की कीमतों में सुधार लाना है। सऊदी अरब ने कहा है कि वो कच्चे तेल के बाजार में स्थिरित लाने के लिए कदम उठाना चाहता है। बता दें कि पिछले दिनों रूस और सऊदी अरब के तल उत्पादन बढ़ाने के ऐलान से तेल मार्केट में कीमतें बुरी तरह से टूट गई है।

दुनियाभर में पैर पसार रहे कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण कच्चे तेल की डिमांड घट गई है। इस कारण साल 2020 के शुरुआत से कच्चे तेल की कीमतें 2/3 यानी 66 प्रतिशत तक गिर गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि सऊदी अरब और रूस कच्चे तेल उत्पादन में कटौती कर ट्रेड वॉर के युद्ध को खत्म कर सकते हैं।

Read More….

राजस्थान में कोरोना का कहर! एक दिन में 46 नए केस, 20 मरकज जमात से
तबलीगी का कोरोना कनेक्शन! 4 दिन में 1300 संक्रमितों में आधे जमात वाले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here