कोरोना वायरस : लॉकडाउन के जरिए इस बात की भरपाई कर रहा है टीम इंडिया का ये खिलाड़ी

0

जयपुर स्पोर्ट्स डेस्क।। कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन से मिले खाली समय को केदार जादव एक मौके के रूप ले रहे हैं। वह अपने परिवार के साथ समय बिता कर पुराने वक्त की भरपाई करना चाहते हैं जब वह उनसे दूर रहे । केदार जाधव अपनी पांच साल की बेटी को समय नहीं दे पाए थे जब वह भारत और अपने राज्य की ओर से खेलते थे।

एबी डीविलियर्स की अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी को लेकर अब इस पूर्व खिलाड़ी ने दिया बड़ा बयान

केदार जाधव ने अब खुद बताया कि उनकी बेटी का जन्म उसी समय के आसपास हुआ था जब उन्होंने भारत की ओर से डेब्यू किया था । इन सालों में वह अपनी बेटी को मुश्किल से ही समय दे पाए। मगर अब घर में रहने से वह सीख रहे हैं कि उनकी बेटी एक स्मार्ट लड़की के रूप में बड़ी हुई ।

कोरोना वायरस: चेतेश्वर पुजारा ने 21 दिनों के लॉकडाउन को इसलिए बताया एक अच्छा फैसला

 

जाधव ने अपने बचपन के समय को याद करते हुए यह भी कहा कि उनकी तीन बहने और माता पिता इस कोशिश में रहते थे कि सभी लोग साथ में कम से कम एक खाना खाएं। मगर समय के साथ एक चीज फीकी हो गई । मगर अब जब से हमें मौका मिला है हमनें फिर से ऐसा करना शुरु कर दिया ।

कोरोना वायरस: लॉकडाउन के बीच अजिंक्य रहाणे ने इस बड़ी समस्या पर खींचा सबका ध्यान

केदार जाधव अंतिम बार फरवरी में न्यूजीलैंड दौरे पर वनडे सीरीज का हिस्सा रहे थे । हालांकि वह बल्ले से खास कमाल नहीं कर पाए थे और इसी वजह से उन पर टीम से बाहर होने का खतरा है। कोरोना का प्रकोप थमने के बाद क्रिकेट जब अपनी पटरी पर लौटेगा तब ही देखने वाली बात रहती है कि केदार जाधव का क्रिकेट भविष्य आगे कैसा होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here