मंत्र जाप: इस मंत्र के उच्चारण मात्र से दूर होगा कोरोना महामारी का भय, जानिए महिमा और महत्व

0

हिंदू धर्म में संस्कृति में ॐ का उच्चारण बहुत ही पवित्र और प्रभावशाली माना जाता हैं इसके तीन अक्षरों में त्रिदेव साक्षात उपस्थिति रहते हैं। ॐ के जाप से तीनों शक्तियों का एक साथ आवाहन हो जाता हैं ॐ का जाप अनिष्टों का समूल नाश करने वाला और सुख समृद्धि देने वाला मंत्र माना जाता हैं यह धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष इन चारों पुरुषार्थों को देने वाला हैं। ॐ शब्द के स्मरण, उच्चारण व ध्यान से आत्मा का ब्रह्मा से संबंध बनता हैं वही गायत्री मंत्र, यंज्ञ में आहुतियां देने वाले मंत्र, सहस्त्र नाम सभी अर्चनाएं ​आदि सभी मंत्र ॐ से ही शुरू होते हैं वही देश और दुनिया में कोरोना वायरस का खतरा बना हुआ हैं जिसके चलते भारत में लॉकडाउन कर दिया गया हैं इस महामारी का भय अधिक लोगो में देखा जा रहे हैं वही उसी भय को दूर करने के लिए कुछ मंत्रों का जाप मानव को शक्ति प्रदान करता हैं, तो आज हम आपको इसी मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

वही शिवपुराण के मुताबिक भगवान शिव ने स्वयं कहा हैं कि ‘ॐ महामंगलकारी मंत्र हैं सबसे पहले मेरे मुख से ओंकार प्रकट हुआ जो मेरे स्वरुप का बोध कराने वाला माना जाता हैं ओंकार वाचक हैं और मैं वाच्य हूं। यह मंत्र मेरा स्वरूप ही हैं रोजाना इस का स्मरण करने से महामारी जैसे भय और परेशानियों का निवारण होता हैं और मनुष्य को मानसिक शांति प्राप्त होती हैं। इस मंत्र का स्मरण करने से शिव का ही स्मरण होता हैं इस मंत्र के जाप से भय, परेशानी और धन संबंधी परेशानियां दूर हो जाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here