देश में बढ़ता कोरोना वायरस का कहर, वैज्ञानिको ने शुरू किया कोरोना का वैक्सीन का ट्रायल

0

जयपुर।आज हमारे देश में कोरोना वायरस संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ता जा रहा है।हमारे देश में लगभग 1 लाख 65 हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमित पाएं गए है और 4 हजार से ज्यादा लोगो की मौत हो चुकी है।कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए विश्व के कई देशों के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन बनाने की खोज में लगे हुए है और कई देशों में वैक्सीन का मानव ट्रायल चल रहा है।

हमारे देश में भी 14 दवा बनाने वाली कंपनियां कोरोना वैक्सीन बनाने में लगी हुई है।बताया गया है इनमें से 4 कंपनियों के वैक्सीन प्री—क्लिनिकल ट्रायल के एडवांस स्टेज में चल रहा है।वहीं इस समय ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिक फ्लू की वैक्सीन से कोरोना की दवा बनाने की कोशिश में लगे हुए है और इस वैक्सीन का मानव परीक्षण भी शुरू कर दिया है।

वैज्ञानिकों ने इस वैक्सीन के परीक्षण को लेकर इस बात का दावा किया है कि इस वैक्सीन की मदद से कोरोना वायरस के प्रोटीन को टुकड़ों में तोड़कर इसे नष्ट किया जा सकता है। अमेरिका की नोवावैक्स कंपनी इस वैक्सीन को तैयार करने में मदद कर रही है।

इस वैक्सीन का नाम एनवीएक्स—कोवी2373 रखा गया है।हमारे देश सहित चीन, इस्रायल, अमेरिका और ब्रिटेन जैसे कई देशों में इस वैक्सीन का अलग-अलग मानव परीक्षण की शुरूआत की जा रही है।यह वैक्सीन इंफ्लूएंजा वायरस पर आधारित है, जिसे नैनोफ्लू कहा जाता है।

वैज्ञानिको ने बताया है कि यह वैक्सीन कोरोना वायरस पर सीधा हमला ना करते हुए केवल कोरोना वायरस के स्पाइक प्रोटीन को नष्ट करने में मदद करेंगी।क्योंकि कोरोना वायरस का यही स्पाइक प्रोटीन इसके संक्रमण को बढ़ाने का काम करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here