Corona vaccine:ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन का होगा ट्रायल, सीरम इंस्टीट्यूट को मिली अनुमति

0

जयपुर।हमारे देश में कोरोना वायरस का संक्रमण अब घातक होता जा रहा है।हमारे देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 52 लाख के करीब पहुंच चुका है और लगभग 83 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।ऐसे में देश में कोरोना वैक्सीन पर अब तेजी से काम होने लगा है।

विश्व की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता भारतीय संस्थान सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी के साथ कोरोना वैक्सीन बनाने करार किया है। लेकिन इनकी वैक्सीन के ट्रायल में शामिल एक व्यक्ति में कुछ साइड इफेक्ट दिखने के बाद वैक्सीन के ट्रायल्स पर रोक लगा दी गई थी।

वहीं अब ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने इस वैक्सीन के सुरक्षित होने की बात कही है।वैक्सीन निर्माता कंपनी एस्ट्राजेनेका ने बताया है कि ट्रायल के दौरान जिस साइड इफेक्ट के दिखने की बताई गई है, वह इस वैक्सीन के कारण नहीं हो सकती है।वहीं हाल ही में भारत में ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने लोगों को पूरी जानकारी दे कर उनकी सहमति लेने, स्क्रीनिंग के वक्त अधिक सावधानी बरतने और प्रक्रिया की निगरानी करने की शर्त पर सीरम इंस्टीट्यूट को दोबारा वैक्सीन के ट्रायल की अनुमति दे दी है।

भारत में इस वैक्सीन का दूसरे और तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है।इसके अलावा सीरम इंस्टीट्यूट ने एक और वैक्सीन के बनाने के लिए अमेरिका की नोवावैक्स कंपनी के साथ समझौता किया है, जिसमें कोरोना वायरस को रोकने के लिए 1 अरब वैक्सीन बनाने का करार किया गया है।

भारत में नोवावैक्स कंपनी की वैक्सीन का इस समय दूसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है और इस बात की संभावना है कि जल्द ही इसके तीसरे चरण का ट्रायल शुरू होंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here