Share Market में तेजी का सिलसिला जारी, आधा फीसदी चढ़े सेंसेक्स, निफ्टी (राउंडअप)

0

देश के शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला मंगलवार को भी जारी रहा। सेंसेक्स 248 अंकों की मजबूत बढ़त के साथ 49,500 के ऊपर बंद हुआ और निफ्टी भी बीते सत्र से 79अंकों की तेजी के साथ 14,563 पर ठहरा। इससे पहले, दोनों प्रमुख सूचकांकों ने नई बुलंदियों को छुआ। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, भारती एयरटेल और रिलायंस के शेयरों में जोरदार तेजी से सेंसेक्स में जबरदस्त उछाल देखने को मिला।

सेंसेक्स 49,569.14 की नई ऊंचाई को छूने के बाद बीते सत्र से 247.79 अंकों यानी 0.50 फीसदी की तेजी के साथ 49,517.11 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 14,590.65 की ऐतिहासिक ऊंचाई को छूने के बाद बीते सत्र से 78.70 अंकों यानी 0.54 फीसदी की तेजी के साथ 14,563.45 पर ठहरा।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स बीते सत्र से 41.06 अंकों की कमजोरी के साथ 49,228.26 पर खुला और आरंभिक कारोबार के दौरान 49,079.57 तक फिसला, लेकिन बाद में लिवाली आने पर 49,569.14 तक उछला।

इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 10.95 अंकों की कमजोरी के साथ 14,473.80 पर खुला और आरंभिक कारोबार के दौरान 14,432.85 तक फिसला जबकि दिनभर के कारोबार के दौरान 14,590.65 तक चढ़ा।

बीएसई मिड-कैप सूचकांक बीते सत्र से 84.30 अंकों यानी 0.44 फीसदी की तेजी के साथ 19,208.60 पर बंद हुआ जबकि स्मॉल-कैप सूचकांक बीते सत्र से 46.29 अंकों यानी 0.25 फीसदी की तेजी के साथ 18,922.73 पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के 30 शेयरों में से15 शेयरों में तेजी रही, जबकि 15 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच शेयरों में एसबीआईएन (3.65 फीसदी), भारती एयरटेल (3.41 फीसदी), रिलायंस (3.14 फीसदी), एचडीएफसी बैंक (2.10 फीसदी) और आईटीसी (1.95 फीसदी) शामिल रहे।

सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच शेयरों में एशियन पेंट (3.93 फीसदी), टाइटन (2.32 फीसदी), हिंदुस्तान यूनीलीवर (2.16 फीसदी), नेस्ले इंडिया (2.12 फीसदी) और कोटक बैंक (1.78 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के 19 सेक्टरों में से 12 सेक्टरों में तेजी रही जबकि सात सेक्टरों के सूचकांक गिरावट के साथ बंद हुए।

सबसे ज्यादा तेजी वाले पांच सेक्टरों में टेलीकॉम (2.85 फीसदी), रियल्टी (2.84 फीसदी), एनर्जी (2.65 फीसदी), मेटल (1.61 फीसदी) और युटिलिटीज (1.45 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के सबसे ज्यादा गिरावट वाले पांच सेक्टरों में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स (0.97 फीसदी), हेल्थकेयर (0.63 फीसदी), कैपिटल गुड्स (0.47 फीसदी), एफएमसीजी (0.45 फीसदी), और कंज्यूमर डिस्क्रेशनरी गुड्स एंड सर्विसेज (0.31 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई पर 3,580 शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें से 1,820 शेयरों मंे तेजी रही जबकि 1,558 शेयरों में गिरावट रही। कारोबार के आखिर में 202 शेयर बिना किसी बदलाव के बंद हुए।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के इक्विटी स्ट्रेटजी, ब्रोकिंग एंड डिस्ट्रीब्यूशन प्रमुख हेमांग जानी ने कहा कि देश में टीकाकरण कार्यक्रम 16 जनवरी से शुरू हो रहा है, जिससे बाजार में उत्साह का माहौल है जो आगे भी बना रह सकता है। इसके अलावा अमेरिका में प्रोत्साहन पैकेज को लेकर भी सकारात्मक संकेत मिल रहा है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleDushyant-Shah meeting के बाद बोले सीएम खट्टर : हरियाणा में कार्यकाल पूरा करेगी सरकार
Next articleGorakhpur festival के मंच पर दिखा खादी का जलवा
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here