जब कामकाज में निष्पक्ष नहीं तो निष्पक्ष चुनाव कैसे कराएगा आयोग: कांग्रेस

0

जयपुर। लोकसभा चुनावों के नतीजे कल आने हैं और उससे पहले चुनाव आयोग पर विपक्ष लगातार हमलावर हो रहा है वहीं इसे लेकर अब कांग्रेस में चुनाव आयोग द्वारा अपने आयुक्त अशोक लवासा की असहमति को रिकॉर्ड करने से मना किए जाने से जुड़ी खबर को लेकर सवाल किया है और कहा है कि जब यह संवैधानिक संस्था अपने कामकाज में निष्पक्ष नहीं हो सकती है तो भला निष्पक्ष चुनाव कैसे करेगी.

आपको बता दें कि मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस मामले को लेकर ट्वीट करते हुए कहा है कि यह संवैधानिक उपहास का विषय है.उन्होंने लिखा है कि चुनाव आयोग अपने संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वाहन करने के लिए करने में काले राज की नई परिपाटी को शुरू करना चाह रही है.

इसके अलावा उन्होंने सवाल करते हुए लिखा कि अगर चुनाव आयोग अपने कामकाज में निष्पक्ष नहीं हो सकता है तो वह कैसे स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने को सुनिश्चित करेगा इसके अलावा उन्होंने खबरों के मुताबिक चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह को आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों में क्लीन चिट दिए जाने के फैसले पर लवासा की सहमति रिकॉर्ड करने के आग्रह को अस्वीकार करते हुए आयोग पर निशाना साधा है.

आपको पता आपको बता दे कि आयोग में 2:1 के बहुमत से यह निर्णय लिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here