रेलमंत्री पीयूष गोयल ने क्या प्राइवेट फर्म से जुड़कर धोखाधड़ी की थी?

0
99

जयपुर। कांग्रेस ने भाजपा सरकार को और सरकार के मंत्रियों को कई आरोपों में ज़िम्दार ठहराना शुरु कर दिया है। जैसे जैसे लोकसभा चुनाव नज़दीक आ रहे हैं, विपक्ष सरकार को घेरती जा रही है और सरकार खुद के बचाव में आ रही है। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम पर जहां आईएनएस मीडिया के मामले में भाजपा कांग्रेस को घेर रही है, वहीं भाजपा पर कांग्रेस कई मामलों जैसे जय शाह जो कि अमित शाह के बेटे हैं, पर गलत ढंग से मुनाफे का आरोप लगाते हुई है।

आरोपों के दौर ने एक कदम और बढ़ा लिया है। अब कांग्रेस ने आरोप लगाया है रेलमंत्री पीयूष गोयल पर। कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं ने कल प्रेस कान्फ्रेंस करके रेलमंत्री पर प्राइवेट फर्म के साथ जुड़े होने का आरोप लगाया है। कांग्रेस का आरोप है कि 25 अप्रैल 2008 से 1 जुलाई 2010 के बीच शिरडी इंजस्ट्रीज के अध्यक्ष और पूर्णकालिक निदेशक थे। इस दौरान कंपनी ने यूनियन बैंक की अध्यक्षता वाले कंसोर्टियम से 258.62 करोड़ रुपये का लोन लिया था।

कांग्रेसी नेताओं के अनुसार गोयल ने बाद में इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद कंपनी को कर्ज ना चुका पाने की वजह से बीमार घोषित कर दिया गया था। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार के आ जाने के बाद कुल लोन में से 65 प्रतिशत लोन को माफ कर दिया गया। कांग्रेस ने ये आरोप नियम 238 के तहत आरोप लगाया है। कांग्रेस ने इस मामले में सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं और कहा है कि सुप्रीम कोर्ट में इन आरोपों की जांच की जानी चाहिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here