चीन की सैन्य ताकत से चिंतित हुआ अमेरिका, ड्रेगन की घातक ताकत को लेकर कही ये बात, जानिए

0
153

जयपुर,  चीन की बढ़ती सैन्य ताकत के साथ ही प्रभावपूर्ण रणनीतिक मामलों को लेकर अमेरिका चिंतित है। इसी के चलते अमेरिका का सौचना है कि चीन की वन बेल्ट वन रोड परियोजना छोटे देशों की संप्रभुता को समाप्त करने वाली परियोजना है। जिसके जरिय वह अन्य देशों को आर्थिक रूप से दबा रहा है और उनका सैन्य फायदा ले रहा है।

अमेरिका ने अपनी बात का उदाहरण भी पेश किया है। जिसमें उन्होंने पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट और श्रीलंका के हंबनटोटा पोर्ट की बात कही है। बात दें कि अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने दुनिया मे चीन के बढ़ते प्रभाव के साथ ही अमरिका के लिए सैन्य चुनौतियों को लेकर एक रिपोर्टे तैयार की है।

जिसमें चीन की कई तरह की नीतियों का जिक्र किया गया है। रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया गया है कि चीन सरकार अंतरराष्ट्रीय मान्यताओं को खत्म करने के साथ ही कई देशों की संप्रभुता दबाने का प्रयास कर रही है। साथ ही यह भी कहा गया है कि अमेरिका के साथ साथ उसके सहयोगी देशों के लिए भी खतरा पैदा हो रहा है।Image result for चीन की बढ़ती सैन्य ताकत से चिंतित है अमेरिका

रिपोर्ट के अनुसार चीन ओबीओआर परियोजना के तहत सैन्य फायदों के लिए कई देशों मे निवेश कर रहा है। इसके अलावा वह हिंद महासागर, भूमध्य सागर और अटलांटिक महासागर में अपनी नौसैनिक मौजूदगी का प्रसार कर रहा है।Image result for चीन की बढ़ती सैन्य ताकत से चिंतित है अमेरिका

बता दें कि चीन के बढ़ते प्रभाव व खतरों को देखते हुए मात्र 24 घंटो में यह दूसरी रिपोर्टे पेश की गई है। इतना ही नहीं इस रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है कि चीन ने अपने निवेश मे 17 मामलों का उल्लंघन किया है। जिससे संबंधित देशों पर गलत आर्थिक असर गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here