सीएम नीतीश कुमार का ​तेजस्वी यादव से इस्तीफा मांगना ही गलत है जानिए कैसे?

0
337
tejaswi and nitish

भारत और भ्रष्टाचार दोनों ही आजादी के दशक से एक दूसरे के साथी रहे हैं। आजादी के दशक में भी संसद में करप्शन को लेकर बहस होती थी। 21 दिसंबर 1963 में एक बार संसद में डॉ.राममनोहर लोहिया ने जो स्पीच दिया था वो आज भी प्रासंगिक है। संसद में बोलते वक्त लोहिया ने कहा था कि सत्ता और व्यापार के बीच का संबंध भारत में जितना दूषित,भ्रष्ट और बेईमान हो गया है ​उतना दुनिया के किसी भी देश में नहीं है।

आज लोहिया जी की बात सच साबित होती दिख्र रही है। देश का कोई कोना ऐसा नहीं है जहां भ्रष्टाचार ने अपनी जड़ें नहीं जमा ली हो। चाहे मीडिया से लेकर सेना, पुलिस यहां तक न्यायापालिका भी करप्शन से अछूती नहीं है।

आजकल पूरे देश में जिस बात की चर्चा सबसे ज्यादा हो रही है वो राजद मुखिया लालू और उनके परिवार के ठिकानों पर बार आयकर विभाग और सीबीआई की ओर से छापेमारी किया जाना। लालू यादव और उनके परिवार पर कभी आय से अधिक संपत्ति रखने तो कभी मुख्यमंत्री रहते या ​केंद्रीय मंत्री रहने काल के दौरान सरकारी घोटाले इन सब मामलों में लालू और उनका परिवार फंसता नजर आ रहा है।

आप को बता दें कि इस समय बिहार में महागंठबंधन की सरकार है। जिसमें जेडीयू, राजद और कांग्रेस की मिली जुली सहभागिता है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार जो खुद को ईमानदार होने के रहनुमा बतातें हैं वास्तव में उनके मुख्यमंत्रित्व काल में बिहार ने तेजी से विकास किया है। शायद यही कारण है कि पूरे देश में पीएम मोदी लहर के बावजूद नीतीश कुमार बिहार की सत्ता पर दोबारा काबिज हुए।

इससे पहले भी नीतीश कुमार ने अकेले ही बीजेपी को कड़ी टक्कर दी थी। नीतीश कुमार को भारतीय राजनीति और विपक्षी नेताओं में फिलहाल सबसे ज्यादा कद्दावर नेता माना जाता है। सियासी गलियारे में तो यहां तक चर्चा है कि भविष्य में नीतीश कुमार ही कांग्रेस अध्यक्ष का पदभार संभालेंगे। क्योंकि राहुल गांधी का भारतीय राजनीति असफल साबित होना कांग्रेस के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। फिलहाल हम बात करते हैं नीतीश कुमार की उस हठधर्मिता की जिसकी वजह से आजकल बिहार में महागबंधन पर खतरे मंडरा रहे हैं। आपको याद दिला दें कि अभी कुछ ही दिन पहले नीतीश कुमार ने ऐलान किया था कि तेजस्वी यादव पर जिस तरीके करप्शन के आरोप लगे हैं। उसके आधार पर तेजस्वी यादव को डिप्टी सीएम के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

लेकिन आपको बतादें कि सीएम नीतीश कुमार की ओर से डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का इस्तीफा मांगना ही गलत है। ​इंडिया टुडे के पूर्व मैनेजिंग एडिटर दिलीप मंडल ने सोशल मीडिया पर टिप्पणी की जिसके अनुसार उन्होंने लिखा है कि 1988 के प्रीवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के मुताबिक केवल पब्लिक सर्वेंट पर ही पद का लाभ उठाकर किए गए भ्रष्टाचार पर जांच परिणाम आने से पहले इस्तीफे का दबाव डाला जा सकता है। ऐसे में सीएम नीतीश कुमार द्वारा डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से इस्तीफा मांगना ही गलत है। ध्यान देने वाली बात यह भी है कि जिस रेलवे टेंडर घोटाले में तेजस्वी यादव का नाम आ रहा है उस समय उनकी आयु मात्र 13 साल थी।

जरूर पढ़ें:…तो इनसे मिलने बार-बार विदेश जाते हैं राहुल गांधी, वीडियो भी देखें…

बिहार के सीएम नीतीश कुमार अपनी सरकार की छवि बिहार की जनता में साफ—सुथरा दिखाना चाहते हैं। इसके लिए नीतीश कुमार भी इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि सीबीआई ने लालू यादव और उनके परिवार पर जो आरोप लगाए हैं वो निराधार नहीं है। लालू यादव जब रेलमंत्री थे तब उन्होंने रेलवे होटलों के रखरखाव का जिम्मा दो निजी कंपनियों को दी थी। रेल मंत्रालय से लेकर मॉल निर्माण में पिछले 12 साल जो गड़बड़ियां देखेन को मिल रही हैं। उसके आधार पर लालू यादव और उनके परिवार के लोंगों बख्शने की गलती नीतीश कुमार कभी नहीं करेंगे।

जरूर पढ़ें : तेजस्वी यादव का इस्तीफा तय, अब लालू अपनी इस बेटी को बनाएंगे बिहार का डिप्टी सीएम!…

दरअसल रेलवे टेंडर घोटाले में बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का भी नाम आ रहा है। लेकिन संशय की बात यह है कि जिस रेलवे टेंडर घोटाले में तेजस्वी यादव का नाम आ रहा है उस समय उनकी आयु मात्र 13 साल थी। इस पर बिहार सरकार ने जो कैबिनेट मीटिंग की थी उसमें तेजस्वी यादव ने कहा कि उस समय तो मेरी मूंछ भी नहीं आई फिर ये 13 साल का बच्चा करप्शन क्या करेगा।

फिलहाल तेजस्वी यादव अपने पद से इस्तीफा देंगे या नहीं आज यानि शनिवार को तय हो जाएगा। लेकिन जिस प्रकार से सोनियां गांधी ने नीतीश कुमार और लालू के बीच मध्यस्थता की है उसे देखते उम्मीद यह लगाई जा रही है कि कोई ना कोई रास्ता जरूर निकल आएगा। राजनीतिक गलियारे में तो इस बात की भी चर्चा है कि जिस तरीके से नीतीश कुमार तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर अड़े हैं उसे देखते हुए तेजस्वी यादव इस्तीफा दे देंगे और लालू की बेटी रोहिणी यादव बिहार की डिप्टी सीएम बनेंगी।

राजनीति की लेटेस्ट जानकारी पाएं हमारे FB पेज पे. अभी LIKE करें – समाचार नामा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here