जलवायु परिवर्तन का ऑस्ट्रेलिया पर प्रभाव, आग,बरसात और अब धूलभरी आंधी से चेतावनी जारी

0

जयपुर।विश्व में लगातार बदलते जलवायु परिवर्तन का असर अब साफ तौर पर दिखाई देने लगा है।हाल ही दिनों में ऑस्ट्रेलिया के जंगलो में लगी भीषण आग ने इस बदलते क्लाइमेंट चेज को और बढ़ा दिया है।ऑस्ट्रेलिया में जहां एक तरफ वायु प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ चुका है वहीं इसके जलवायु परिवर्तन के कारण कई राज्यों को सूखाग्रस्त घोषित किया जा चुका है।दूसरी तरफ बदले मौसम के कारण ऑस्ट्रेलिया में आई बरसात ने भी शोधकर्ताओं को इस बात पर

सोचने को मजबूर कर दिया है कि जलवायु परिवर्तन का विश्व पर घातक असर सामने आने वाला है।ऑस्ट्रेलिया में एक के बाद एक भारी पर्यावरणीय आपदा दिखाई दे रही है।पहले भीषण आग की मार,फिर कई राज्यों में गंभीर सूखा और इसके बाद बदलते मौसम के कारण आई बाढ़ ने भी ऑस्ट्रेलिया के जनजीवन को प्रभावित किया है तो अब ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स में धूल भरी आंधी की वजह से दिन में ही अंधेरा छा गया है।

ऑस्ट्रेलिया के मौसम विभाग ने बताया है कि इन हवाओं की रफ्तार 94 किमी/घंटा से लेकर 107 किमी/घंटा दर्ज की गई है।वहीं ऑस्ट्रेलिया विक्टोरिया प्रांत के पूर्वी गिप्सलैंड में सबसे ज्यादा 56.6 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत की आपातकालीन सेवा मंत्री लिसा नेविल ने इस बारे में बताया कि अगले कुछ दिनों में यहां पर बाढ़ और तेज आंधी और सामने आ सकती है।

ऑस्ट्रेलिया में इस भीषण प्राकृतिक आपादा के चलते कई राज्यों में आपातकाल लगाने की घोषणा भी की जा चुकी है।ऑस्ट्रेलिया के हालात देखते हुए विश्व पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव अब धीरे—धीरे सामने आने लगे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here