चीन की अंतरिक्ष एजेंसी ने बनाया मंगल मिशन, इससे पहले भी कर चुका चीन इसका प्रयास

0

जयपुर।चीन अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के साथ टक्कर लेते हुए अब अपना एक अंतरिक्ष मिशन मंगल ग्रह पर भेजने की तैयारी में लगा गया है।समाचार एजेंसी ब्लूमबर्ग ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि मंगल ग्रह पर चीन का अंतरिक्ष मिशन भेजकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग चीन को स्पेस सुपरपावर के की रेस में चीन को प्रस्तुत करना चाहते है।बताया गया है कि चीन का एक रोवर पहले से ही चंद्रमा पर बना हुआ है और इसके अलावा चीन

अपना स्पेस स्टेशन, लूनर बेस बनाने के साथ साल 2030 तक क्षुद्रग्रहों की तलाश करने की भी योजना बनाने में लगा हुआ है। चीनी वैज्ञानिक मंगल ग्रह तक पहुंच बनाने के लिए अपने महत्वाकांक्षी मिशन की शुरूआत जल्द ही कर सकते है।समय अवधि को लेकर बताय गया है कि मंगल और पृथ्वी ऑर्बिट के नजदीक होने के समय चीन अपने इस मिशन की

शुरूआत कर सकता है। ऐसा हर 26 महीने में एक बार संयोग बना दिखाई देता है।अमेरिका, यूरोप, रूस और यूनाइडेट अरब अमीरात की स्पेस एजेंसियां भी जुलाई और अगस्त माह के बीच में रोबोटिक मिशन लॉन्च करने वाली है। जब इस प्रकार का संयोग बनने वाला होगा।

इसके अलावा अमेरिकी नीजि क्षेत्र की कंपनी ने भी मंगल ग्रह पर जाने की घोषणा कर दी है।हालांकि चीन ने साल 2012 में भी मंगल ग्रह पर पर जाने की असफल कोशिश की थी और इसका स्पेशक्राफ्ट अंतरिक्ष में ही क्रैश हो गया था।अब संभवत: इस साल गर्मियों में चीन अपना दूसरा सफल प्रयास करने की कोशिश कर सकता है।

यदि चीन का यह प्रयास सफल रहा तो एक ऑर्बिटर मंगल की परिक्रमा करेगा और उसका रोवर मंगल ग्रह की सतह पर उतर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here