Corona महामारी के बाद दुनिया को उभारने में मदद देता China

0

इस समय पूरी दुनिया कोरोना जैसी भीषण महामारी से त्रस्त है, और वैश्विक अर्थव्यवस्था गहरी मंदी में जकड़ी हुई है, और दुनिया अशांति और क्रांति की अवधि में प्रवेश कर रही है। ऐसी विपरीत पृष्ठभूमि में चीनी राष्ट्रपति शी ने बहुपक्षीय चरणों में वैश्विक चुनौतियों के लिए चीन के समाधान को आगे रखा है और दुनिया को आश्वस्त करने वाले संदेश दिये हैं। दरअसल, चीन इस समय एशिया-प्रशांत क्षेत्र और यहां तक कि दुनिया में तेजी से महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। हाल ही में, चीनी राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने 12वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन, 27वें एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपेक) आर्थिक नेताओं की बैठक, और 15वें जी20 शिखर सम्मेलन में तीन प्रमुख बहुपक्षीय राजनयिक कार्यक्रमों में भाग लिया है।

महामारी की रोकथाम और नियंत्रण और आर्थिक और सामाजिक विकास के समन्वय के साथ-साथ काम और उत्पादन को फिर से शुरू करने और आर्थिक विकास को बहाल करने की चीन की सफल कोशिशों का उल्लेख करते हुए, राष्ट्रपति शी ने विश्व अर्थव्यवस्था की रिकवरी को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाओं का प्रस्ताव रखा है।

यह आम तौर पर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा माना जाता है कि शी की टिप्पणियों और चीन द्वारा प्रस्तावित पहल ने दुनिया को वर्तमान संकट से उबारने के लिए प्रेरणा दी है और कोविड-19 महामारी के बाद दुनिया को बहाल करने के लिए आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त किया है। वाकई, यह पूरी दुनिया को एकजुटता और सहयोग के साथ वायरस को हराने के लिए एक जरूरी काम है।

राष्ट्रपति शी ने व्यापक रूप से और व्यवस्थित रूप से चीन के विचारों और अंतरराष्ट्रीय महामारी-रोधी सहयोग पर प्रस्तावों के बारे में विस्तार से बताया है। उन्होंने प्रस्तावित किया है कि सभी देशों को जनता-केंद्रित विकास का पालन करना चाहिए और लोगों के जीवन और स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी चाहिए।

इसके अलावा, शी ने जोर दिया है कि महामारी को जीतने के लिए एकता और सहयोग सबसे शक्तिशाली हथियार हैं, और साथ ही देशों को एकता के साथ विभाजन को दूर करने के लिए प्रोत्साहित किया है। उन्होंने पूर्वाग्रह को वजह में परिवर्तित करने, और वायरस को हराने के लिए अधिकतम वैश्विक तालमेल बनाने पर बल दिया है।

चीन के प्रस्तावों और पहलों ने अंतर्राष्ट्रीय महामारी-रोधी सहयोग और वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए आत्मविश्वास बढ़ा दिया है। चीन के सर्वोच्च नेता ने सभी देशों को वायरस का मुकाबला करने में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महत्वपूर्ण नेतृत्व की भूमिका का सक्रिय रूप से समर्थन देने का आह्वान किया।

इसके अलावा, कोविड-19 को नियंत्रित करने के अनुभव साझा करना, डिजिटल प्रौद्योगिकियों के साथ आर्थिक रिकवरी हासिल करना, स्वास्थ्य प्रमाणपत्रों की पारस्परिक मान्यता पर एक वैश्विक तंत्र स्थापित करना, और महामारी के खिलाफ एक वैश्विक फायरवॉल का निर्माण करना आदि पर प्रस्ताव रखे हैं।

इन प्रस्तावों और पहलों ने एक बार फिर पूरी तरह से चीनी नेता की मानव जाति के लिए सामान्य स्वास्थ्य और दुनिया के लिए सुरक्षित स्थिरता की इच्छा का प्रदर्शन किया है, वर्तमान कठिनाइयों को दूर करने के लिए अन्य देशों के साथ हाथ मिलाने के लिए चीन की ²ढ़ता को मूर्त रूप दिया है, और विभिन्न दलों से उच्च प्रशंसा और सकारात्मक प्रतिक्रियाएं हासिल की हैं।

ऐसा करने में, चीन वैश्विक सुधार और विकास के लिए अधिक अवसर और स्थान बनाएगा। चीन ने महामारी की रोकथाम और नियंत्रण में प्रमुख रणनीतिक उपलब्धियां हासिल की हैं, और इसके आर्थिक और सामाजिक विकास को संतुलित करने में सकारात्मक परिणाम प्राप्त किए हैं।

चीन के प्रस्तावों और योजनाओं के माध्यम से, दुनिया चीन के उच्च गुणवत्ता वाले विकास की गति के बारे में अधिक जागरूक हो गई है, और समय की प्रवृत्ति को बेहतर ढंग से समझ सकती है।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleAUS vs IND : विराट- रोहित के बीच जो चल रहा है वो दुखद, पूर्व तेज गेंदबाज ने दिया बड़ा बयान
Next articleJamai Raja 2.0 को लेकर काम हुआ शुरू, निया शर्मा ने ये अंदाज़ देखकर उड़ सकते है होश
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here