3 साल में पहली बार शेयर मार्केट में मचा हाहाकार, निवेशकों के डूब गए 6 लाख करोड़

0

चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना वायरस का प्रकोप अब दुनिया के कई देशों में फैल चुका है। इसका असर अब अर्थव्यस्था पर भी पड़ रहा है। भारत में शेयर मार्केट में जबरदस्त गिरावट कोरोना के कारण आ गई है। शेयर मार्केट में गिरावट के कारण शुक्रवार को निवेशको के 6 लाख करोड़ रुपये से अधिक डूब गए हैं। ऐसे में निवेशकों को अब चिंता सताने लगी है। शुक्रवार को बीएसई इंडेक्स का मार्केट कैप 14687010.42 करोड़ के स्तर पर रहा है। गुरुवार के दिन बीएसई इंडेक्स का मार्केट कैप 15240024.08 करोड़ के स्तर पर रहा था। इस प्रकार महज एक दिन के भीतर मार्केट कैप में 6 लाख करोड़ से भी अधिक का नुकसान होना सामने आया है।

शुक्रवार को सेंसेक्स में 1448.37 अंकों की जबरदस्त गिरावट आई है। सेंसेक्स 38297.29 अंकों पर आकर बंद हुआ है। सेंसेक्स की यह दूसरी बड़ी गिरावट में शुमार है। निफ्टी की बात करें तो यह 414.10 अंक टूटकर 11219.20  के स्तर पर आ ठहरा है। पिछले 6 महीने के दौरान सेंसेक्स 7 प्रतिशत तक फिसल चुका है। सेंसेक्स में 3.64 प्रतिशत की गिरावट और निफ्टी में 3.56 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। पिछले 6 दिन से शेयर मार्केट में जबरदस्त गिरावट हो रही है।

मार्केट के गिरने को लेकर कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं कि आखिर इतनी बड़ी गिरावट कैसे आ सकती है। आर्थिक विश्लेषकों की माने तो कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर विदेशी निवेशकों में डर का माहौल देखने को मिल रहा है। चीन के कोरोना के कारण दुनिया में मंदी जैसे हालात पैदा हो रहे हैं। भारतीय बाजार पर भी इसका असर देखने को मिल रहा है। अधिकतर चीजों के लिए भारत चीन से होने वाले आयात  पर निर्भर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here