छोटे बच्चे अकसर रात में उठकर रोने लगते है, जानिए ये वजह भी हो सकती है उनके रोने की

0

जयपुर हेल्थ। बच्चों को पालना बच्चों को का खेल नहीं, आम बोल-चाल में अकसर हम ऐसे वाक्यों का प्रयोग करते है क्योंकि बच्चों के बिना बोले उनकी जरूरतों को समझना आसान नहीं होता है, खासतौर से जब वो रात में उठकर रोने लगते है और बहुत कोशिशों के बाद भी वो चुप नहीं होते है तो चिंता बढ जाती है। आज हम बच्चों के रोने पर कुछ आम कारणों के बारे में जानेगें….

ऐसे तो बच्चों के मन-मुताबिक ना होने पर वो रोने लगते है। रात में अचानक से रोन, उनके आधे नींद में उठने के कारण भी हो सकता है, लेकिन कई बार बच्चों के रोने की वजह दूसरी भी हो सकती है। अधिकांश समय जब बच्चे रोते हैं तो घरवाले उनको दूध पिलाने की ही सलाह देते हैं।

हालांकि, दूध पिलाने के बच्चों को डकार दिलवाना भी बहुत जरूरी होता है। ऐसा नहीं करने पर उन्हें असहज महसूस होगा और वो रोते रहेंगे। छोटे बच्चों को अक्सर गैस की समस्या हो जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रेस्ट मिल्क या फिर बोतल से दूध पीने के समय बच्चे दूध के साथ ही हवा को भी निगल जाते हैं जो कि गैस का रूप ले लेता है। इसके वजह से बच्चों के पेट में काफी दर्द रहने लगता है।

इसलिए दूध पिलाने के बाद ये ध्यान रखें कि बच्चे को डकार दिलवाया जाए। जब बच्चा रात को ज्यादा रोने लगे तो हो सकता है कि वो गैस की वजह से रो रहा हो। ऐसे में आप बच्चे को पेट की तरफ लेटाकर उसकी पीठ को मालिश कर सकते हैं।

ऐसा करने से बच्चों को राहत मिलती है और गैस भी निकल जाता है। अगर बच्चा 5 से 6 महीने का है तो उनके दांतो का निकलना भी उनके रोने का एक कारण हो सकता है।

ध्यान देने योग्य बात- अगर बच्चा बहुत ज्यादा रो रहा तो डॉक्टर से अवश्य मिलकर सलाह लें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here