आपके जीवन में सुख सौभाग्य बढ़ाएगा इस मंत्र का जाप…

0
194

सूर्य उपासना का दिन हैं,रविवार और आप अगर इस दिन व्रत करते हैं,तो आपको भगवान सूर्य की कृपा प्राप्त होती हैं,व्रत के दिन भोजन में नमक का उपयोग वर्जित माना गया हैं। आप अगर अपने जीवन को ​खुशियों से भरा रखना चा​हते हैं,तो सूर्य पूजन में इस मंत्र का जाप करना आपके लिए लाभदायक होगा। इस तरह करें पूजा—
रविवार के दिन खुल आकाश के नीचे पूर्व की ओर मुंह करके शुद्ध ऊन के आसन या कुशासन पर बैठकर काले तिल,जौ,गूगल,कपूर और घी मिली हुई हवन साम्रगी तैयार करके आम की लकड़ियों से अग्नि को प्रदीप्त कर उक्त मंत्र से एक सौ आठ आहुतियां दें।

इस मंत्र का करें जाप—
सुख—सौभाग्य की वृद्धि के लिए,दुख दारिद्रता को दूर करने ​के लिए,और रोग व दोष के शमन के लिए इस प्रभावकारी मंत्र की साधना रविवार के दिन करनी चाहिए।

ॐ ह्रीं घृणिः सूर्य आदित्यः क्लीं ॐ।

इसके सिद्धासन लगाकर इसी मंत्रा का सौ बार जप करें। जप करते वक्त दोनो भौंहों के मध्य भाग में भगवान सूर्य का ध्यान करते रहें। इस तरह ग्यारह दिन तक करने से यह मंत्र सिद्ध हो जाता हैं।

मंत्र जाप में रखे इन बातों का विशेष ध्यान—
प्रतिदिन स्नान के बाद तांबे के बर्तन में जल भरकर इसी मंत्र से सूर्य को अर्घ्य जरूर दें। जमीन पर जल न गिरे इसलिए नीचे दूसरा तांबे का बर्तन अवश्य रख लें। वही इस मंत्र का एक सौ आठ बार जाप करना होगां। वही बस मात्र इतना करने से आयुष्य,आरोग्य,ऐश्वर्य और कीर्ति की उत्तरात्र वृद्धि होती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here