कोरोना वायरस का बदलता स्वरूप, कोरोना वायरस से बचाव के लिए इन लक्षणों का रखें ध्यान

0

जयपुर।आज के समय में विश्व में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है।विश्व में अब तक 1 करोड़ 20 लाख कोरोना संक्रमित पाए गए है और करीब 5 लाख 50 हजार से ज्यादा लोगो की मौत हो चुकी है।वहीं कोरोना वायरस का स्वरूप लगातार बदलता जा रहा है अब तक जहां सर्दी—जुकाम, खांसी, तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ और सिर दर्द को ही कोरोना वायरस का मुख्य लक्षण माना जाता रहा था।

लेकिन धीरे—धीरे इसके लक्षणों में बदलाव आने के साथ हाथ—पैरो में चकते बनना, स्वाद व गंध का महसूस ना होना भी दिखाई दे रहें है।हाल ही किए गए एक शोध में बताया गया है कि कोरोना संक्रमण के कारण शरीर का इंसुलिन लेवल बढ़ सकता है जिससे डायबिटीज का खतरा भी रहता है।

वहीं अब शोधकर्ताओं ने विश्व में बढ़ते कोरोना संक्रमण के इस बदलते स्वरूप के नए लक्षणों के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि कोरोना वायरस अब फेफड़ों की जगह शरीर में पाचन तंत्र के मार्ग पर हमला कर रहा है और इसके कारण कोरोना संक्रमित लोगो में डायरिया, उल्टी, दस्त जैसे लक्षण भी दिखाई दे रहे है।

शोधकर्ताओं ने बताया है कि इससे शरीर में पानी की कमी होने लगती है और साथ ही शरीर में ऑक्सीजन, ब्लड लेवल, शुगर लेवल गिरने लगता है। जो कि कोरोना संक्रमित लोगो के मौत का कारण बनता है।मानसून के मौसम में पेट खराब होना सामान्य बात होती है

लेकिन कोरोना संक्रमण के दौर में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए डायरिया, उल्टी, दस्त की समस्या को नजरअंदाज ना करें और समय रहते डॉक्टर से अपनी जांच अवश्य करवाएं।क्योंकि अभी तक कोरोना वायरस का कोई प्रभावी इलाज नहीं खोजा जा सका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here