Chanakya Niti: चाणक्य अनुसार इन लोगो से हमेशा रहे सावधान

0

चाणक्य नीतियां मनुष्य के जीवन से जुड़ी मानी जाती हैं इनकी नीतियां आज भी कारागर साबित होती हैं आचार्य चाणक्य की नीतियां विश्व प्रसिद्ध हैं। आचार्य चाणक्य अपने ज्ञान, विवेक और कूटनीति के कारण महान विद्वान कहलाते हैं। उनके पास रंक को राजा बनाने की विशेष कला थी। चाणक्य ने अपने अनुभव, ज्ञान और बौद्धिक कौशल से जीवन में सफलता हासिल कर कई नीतियां बनाई थी। उन सभी नीतियों का संग्रह चाणक्य नीति शास्त्र में मिलता हैं तो आज हम आपको अपने इस लेख में चाणक्य द्वारा बनाई गई नीतियों के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं। चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में यह बताया है कि मनुष्य को कामयाब बनना है तो हमेशा तीन तरह के लोगों से सावधान और सतर्क रहना होगा। चाणक्य ने अपनी नीति में एक श्लोक के माध्यम से बताया है कि मनुष्य को हमेशा कवि, शराबी और दुस्साहस करने वाली महिलाओं से सावधान रहना चाहिए।

कवय: किं न पश्यन्ति किं न कुर्वन्ति योषित:।
मद्यपा किं न जल्पन्ति किं न खादन्ति वायसा:।।

चाणक्य कहते हैं कि कवि अपनी कविता के माध्यम से कोई भी बड़ी से बड़ी बात सरलता से कह सकता हैं इसलिए चाणक्य ने कवि से भूलकर भी दुश्मनी मोल नहीं लेने की बात कही हैं। जो लोग हमेशा शराब के नशे में डूबे रहते हैं उनके साथ कभी भी दोस्ती नहीं करनी चाहिए। नशे में व्यक्ति होने से वह अपनी सारी मर्यादाएं भूल जाता हैं उसके मन में जो आता हैवह बोल देता हैं इसलिए चाणक्य ने कहा है कि नशा करने वाले लोगों से हमेशा ही दूरी बना कर रखना चाहिए। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में दुस्साहस बहुत होता हैं दुस्साहस के कारण महिलाएं कई बार ऐसे काम भी कर देती हैं जो पुरुष सोच भी नहीं सकते हैं इस तरह की महिलाओं के कारण मनुष्य बहुत बड़े संकट में पड़ सकता हैं इसलिए इनसे भी दूर रहने में भलाई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here