Chanakya Niti: ऐसे लोगों को समाज में माना जाता है योग्य, नहीं होते कभी असफल

0

आचार्य चाणक्य एक महान अर्थशास्त्री और राजनीतिज्ञ माने जाते हैं चाणक्य ने जीवन से जुड़े कई विषयों पर गहन अध्ययन कर अपने नीति शास्त्र ग्रंथ में कुछ नीतियों का उल्लेख किया हैं उन्हीं नीतियों में चाणक्य ने कुशल और योग्य मनुष्य के बारे में भी बताया हैं तो आज हम आपको इन्हीं नीतियों के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

आचार्य चाणक्य के अनुसार वह व्यक्ति कुश और योग्य समझा जाता हैं जो अपनी संतान की शादी एक अच्छे खानदान में करता हैं चाणक्य कहते है कि ऐसा करने से एक परिवार से दूसरे परिवार के बीच में गुणों का आदान प्रदान होता हैं और इससे दोनों खानदानों का नाम रोशन होता हैं। जो लोग अपनी संतान को अच्छी शिक्षा और संस्कार देते हैं उनको मान सम्मान और प्रसिद्धि दूर तक फैली हुई होती हैं चाणक्य कहते हैं कि संतान को अच्छी शिक्षा देने से नौकरी और कारोबार में सफलता मिलती हैं। चाणक्य कहते हैं कि कुशल और योग्य व्यक्ति वही माना जाता हैं जो हमेशा अपने मित्र को सही शिक्षा देता हैं बुरे और संघर्ष के समय में अपने मित्र की सहायता करने वाला मनुष्य ही आगे चलकर सम्मान प्राप्त करता हैं। चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में दुश्मनों से कैसे निपटना चाहिए इसे बहुत अच्छे तरीके से समझाया हैं वे कहते है कि कभी भी अपने दुश्मनों से नफरत नहीं करनी चाहिए। बल्कि दुश्मनों को हमेशा अपनी बातों और दिमाग से उलझाए रखें जिससे वह आप पर चाल चलने के बारे में अधिक ना सोच सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here