Chanakya niti: चाणक्य अनुसार इन बातों को कभी न करें शेयर, छुपाने में है भलाई

0

चाणक्य नीतियां मनुष्य के जीवन में विशेष लाभकारी और कारगर साबित होती हैं आचार्य चाणैय ने अपने नीति ग्रंथ यानी चाणक्य नीति में व्यक्ति के जीवन को सरल और सफल बनाने के लिए कई सारी बातों का उल्लेख किया हैं चाणक्य नीति के 14वें अध्याय के 17वें श्लोक में चाणक्य ने बताया है कि बुद्धिमान मनुष्य को अपनी किन बातों को किसी से शेयर नहीं करना चाहिए। इन बातों को शेयर करने पर अपमान का सामना करना पड़ सकता हैं इसके साथ ही बुरे समय में समाज के लोगों का साथ भी नहीं मिलता हैं तो आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं तो आइए जानते हैं।

सुसिद्धमौषधं धर्मं गृहच्छिद्रं च मैथुनम् ।
कुभुक्तं कुश्रुतं चैव मतिमान्न प्रकाशयेत् ॥

चाणक्य नीति अनुसार अपनी दवाई या औषधियों के बारे में किसी को भी नहीं बताना चाहिए। किसी को ये नहीं बताना चाहिए कि आपको क्या बीमारी है और आप कौन सी औषधियां ले रहे हैं अपनी दवाइयों के बारे में दूसरों से बताने से स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता हैं। चाणक्य अनुसार अपने घर का राज किसी को नहीं बताना चाहिए। चाहे आप कितने भी परेशान क्यों ना हो, कभी अपने घर का दोष किसी के सामने उजागर नहीं करना चाहिए। घर का भेद दूसरों को बताने से शत्रु इसका लाभ उठा सकता हैं। व्यक्ति को अपने घर परिवार के लोगों की बुराई कभी किसी के सामने नहीं करनी चाहिए। अगर किसी सदस्य के भीतर कोई कमी हैं तो उसे भी किसी से नहीं करना चाहिए। परिवार की बुराई दूसरों से करने पर पारिवारिक उपहार होता हैं जिससे सम्मान को ठेस पहुंचाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here